Breaking News
Home / देश / मोबाइल फोन व लैपटॉप के बारे में इन अफवाहों को दूर करें
laptop ad mobiles

मोबाइल फोन व लैपटॉप के बारे में इन अफवाहों को दूर करें

नयी दिल्ली। आज के समय में ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जो मोबाइल फोन यूज नहीं करता हो। इन फोन्स क बारे में अनेक प्रकार की अफवाहें होती हैं जिनको लेकर लोग बेवजह परेशान रहते हैं।
चार्जिंग के समय फोन का फटना
लोगां को अक्सर भ्रम रहता है कि फोन चार्जिंग पर हो तो कॉल नहीं करनी चाहिये। अगर ऐसा किया तो फोन फट सकता है। वास्तव बात यह हैं कि हादसे बैटरी की वजह से होते हैं न कि डिवाइस के कारण। जेनुइन बैटरी और चार्जर्स वाले फोन के साथ ऐसे हादसे नहीं होते हैं। लोकल चार्जर और बैटरी के इस्तेमाल से ऐसे हादसे होने की आशंका अधिक होती है।
नेट पर सर्फिंग के संबंध में भ्रम

अक्सर लोगों को यह भ्रम होता फोन या कंप्यूटर पर नेट से कुछ भी सर्फ करने पर कोई देख नहीं सकता है कि आपने क्या सर्फ किया है। लेकिन यह सच नहीं है मोबाइल और कंप्यूटर आदि में प्राइवेट या इन्काग्निटी मोड आपके डिवाइस हिस्ट्री सेव नहीं करता है। मगर इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर और अथॉरिटी जान सकते हैं कि आपने क्या सर्च किया है।
बैटरी के साइज पर भ्रम

अक्सर लोगों को यह भ्रम रहता है फोन की बैटरी बड़ी है तो लंबे समय तक चलेगी। सच यह है सेलफोन या लैपटॉप या अन्य बैटरी वाली डिवाइस की लाइफ इस बात पर डिपेंड करती है कि कितनी बैटरी खर्च करती है। बैटरी की लाइफ स्मार्टफोन के स्पेसिफिकेशन पर निर्भर करती है। डिस्प्ले व प्रोसेसिंग यूनिट्स का भी इस पर असर पड़ता है।
रात भर मोबाइल को चार्जिंग पर नहीं छोड़ना चाहिये वर्ना

लोगों मे एक बात ज्यादा चर्चा में रहती है कि मोबाइल फोन को रातभर चार्जिंग में नहीं लगाना चाहिये वर्ना बैटरी की लाइफ कम हो जाती है। डिवाइस के खराब होने की आशंका रहती है। लोगों की यह आशंका बिल्कुल निर्मूल है आपको बता दें कि आधुनिक उपकरणों में इनबिल्ट ऐसा सिस्टम होता है जो डिवाइस को ओवरचार्जिंग से रोक देता है। केवल पावर एडाप्टर के जरिये बिजली खर्च हो सकती है।

पेट्रोल पर मोबाइल से आग लगने की आशंका
पेट्रोल पंप पर मोबाइल का इस्तेमाल करने से आग लग सकती है ऐसी लोगां में आम धारणा रहती है। पेट्रोल में आग किसी चिंगारी, इलेक्ट्रिक स्पार्क या माचिस की तीली से लग सकती है न कि मोबाइल फोन से। लेकिन आपका खराब फोन या बैटरी के स्पार्क से आग लगने की आशंका हो सकती ह्रै। वैसे आजतक किसी पेट्रोल पंप पर मोबाइल से आग लगने की खबर नहीं आयी है।
फ्लाइट में मोबाइल फोन बंद करने की सलाह क्यों

अक्सर लोगों को यह भ्रम रहता है कि फ्लाइट के दौरान मोबाइल फोन्स इसलिये बंद करवा दिये जाते है कि प्लेन के नैविगेशन व कम्यूनिकेशन में बाधा पड़ सकती है। इसी वजह से इसे टेक ऑफ और लैंडिंग के समय मोबाइल फोन बंद करवाये जाते हैं। लेकिन यह सच नहीं हैं मोबाइल ऑन होने से प्लेन की नैविगेशन और कम्यूनिकेशन कोई असर नहीं होता है। अ्रगर ऐसा होता तो प्लेन में एन्टर करते ही सेलफोन को अलग रखवा दिया जाता। फोन बंद करवाने की असली वजह यह होती है कि लोग काबू में रहें और एयर हॉस्टेस या क्रू के निर्देशों को ध्यान से सुनें।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …