Home / Blog / आम आदमी पार्टीः हर शाख पर उल्लू बैठा है अंजाम ए गुलिस्तां क्या होगा
lg-returns-kejriwal-goverment-file-

आम आदमी पार्टीः हर शाख पर उल्लू बैठा है अंजाम ए गुलिस्तां क्या होगा

नयी दिल्ली। लगभग तीन साल पहले जब आम आदमी पार्टी का गठन किया गया था तो यह उम्मीद नहीं थी कि इतनी जल्दी पार्टी बिखरने लगेगी। जिस तरह से आप ने लोगों के बीच अपनी लोकप्रियता का कीर्तिमान बनाया था उससे कहीं तेजी से उसमें फूट पड़ती नजर आ रही है। एमसीडी चुनाव में करारी मात मिलने से पार्टी के आला नेताओं में परस्पर विरोध देखा जा रहा है। ताजा मामला जल संसाधन मंत्री कपिल मिश्रा का है जिन्हे उनके मंत्री पद से हटा दिया गया है। इससे पहले कुमार विश्वास पर ओखला के विधायक अमानतुल्लाह खान ने काफी संगीन आरोप लगाते हुए उन्हें बीजेपी का एजेंट तक घोषित कर दिया था। अगर ऐसा ही रहा तो आने वाले चुनाव में पार्टी का हश्र बहुत ही बुरा होने जा रहा है। विपक्षी दल भी आप के नेताओं को तोड़ने और बरगलाने में पीछे नहीं रहेंगे।

पहली बार सरकार बनने के बाद ही आम आदमी पार्टी में कुछ नेताओं ने बगावत का झण्डा उठा लिया था। पार्टी ने बगावत करने वाले दिग्गज नेता योगेंद्र यादव, प्रशांत भूषण और प्रो. आनंद कुमार को पार्टी से बाहर कर दिया था। कुछ समय बाद इन बागी लोगों ने स्वराज इंडिया के नाम से राजनीतिक दल का गठन कर लिया। इसके बाद महाराष्ट्र व पंजाब की आप इकाई में भी बगावत के सुर सुनाइ दिये। वहां भी पार्टी नेतृत्व ने बागियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया था।

पार्टी के आधे से ज्यादा विधायकों पर दिल्ली पुलिस ने अनेक मामलों में कार्रवाई करते हुए अदालत में खड़ा होने पर मजबूर कर दिया है। आप सरकार के मंत्रियों जितेंद्र सिंह तोमर, संदीप कुमार, सोमनाथ भारती, मो. आसिम खान को केजरीवाल ने कैबिनेटस से हटा दिया। इसके साथ पार्टी के विधायक अल्का लांबा, नरेश यादव , जगदीप सिंह, अमानतुल्लाह खां दिनेश मोहनिया, नरेश बाल्यान, जनरैल सिंह समेत एक दर्जन से अधिक लोगों पर मुकदमे लंबित हैं।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

honeypreet

मीडिया का राष्ट्रीय मुद्दा, हनीप्रीत…! हनीप्रीत..!

इन दिनों जब भी खबरिया चैनल देखते होंगे तो शायद इस बात का मलाल आपके …