Breaking News
Home / देश / अजूबा, विश्वास और ये रात फिर न आयेगी फिल्म लिखने वाले ब्रिज कात्याल की खैराती अस्पताल में मौत
writer-brij-katyal

अजूबा, विश्वास और ये रात फिर न आयेगी फिल्म लिखने वाले ब्रिज कात्याल की खैराती अस्पताल में मौत

नयी दिल्ली। स्क्रिप्ट राइटर ब्रिज कात्याल नहीं रहे। वे रेक्टल कैंसर से पीड़ित थे। उनकी उम्र 85 साल से ज्यादा थी और आखिरी वक्त में वे पैसे न होने की वजह से बांद्रा स्थित चैरिटी अस्प्ताल में अपना इलाज करा रहे थे। उनके पार्थिव शरीर को खंडाला ले जाया गया है, जहां उनका अंतिम संस्कार होगा। ब्रिज कात्याल के साथ काम कर चुके लोगों के मुताबिक उनकी बुरी हालत का जिम्‍मेवार उनका पुत्रमोह साबित हुआ। वे अपनी मेहनत की कमाई बेटे पर बेतहाशा लुटाते रहे, लेकिन बेटे-बहू ने उनका इलाज तक सही डाक्टर से नहीं करवाया।

ब्रिज कात्याल ने एक बेटा गोद लिया था। वे अपने इस गोद लिए बेटे से इतना ज्यादा प्यार करते थे कि अपनी सारी प्रॉपर्टी उसी के नाम कर थी। आखिरी वक्त में हालात ये हो गए थे कि बेटा-बहू उनकी सुध तक नहीं ले रहे थे। उनके एक करीबी ने बताया था कि 85 साल के कात्याल हमेशा से ही अपने बेटे-बहू के साथ रहना चाहते थे, लेकिन उनकी ये इच्छा पूरी नहीं हो पाई। मजबूरन उनको भयंदर वाले फ्लैट में अकेले रहना पड़ा। उनकी देखभाल लक्ष्‍मण नाम का एक लड़का करता था, जो उनके साथ रहता था। लेकिन उन्होंने अपना दर्द भी किसी से नहीं बांटा और अंदर-अंदर घुटते रहे।

 भायंदर में कात्याल एक्टिंग अकादमी चलाते थे। चैरिटी अस्पताल शांति अवेदना सदन में एडमिट होने से पहले तक वे ‘महक’ नामक की फिल्‍म लिख रहे थे। कात्याल द्वारा लिखे टीवी सीरियल ‘सांस’ में काम कर चुकी एक्ट्रेस नीना गुप्‍ता ने बताया था, हम लोग उन्‍हें समझाते रहे कि एक घर बेचकर इलाज के लिए पैसे जुटा लो। लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। अपना सबकुछ बेटे के नाम कर दिया। घर बेचकर उन्‍होंने पैसा जुटाया होता तो उनका बेहतर तरीके से इलाज हो गया होता । कात्याल ने शशि कपूर की ‘जब जब फूल खिले’, अमिताभ बच्चन की ‘अजूबा’, ‘ये रात फिर ना आएगी’, ‘विश्वास’ जैसी फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखी है। ब्रिज द्वारा लिखा अंतिम शो ‘आशिक बीवी का’ था। ये एक कॉमेडी शो था।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

rape victime

गुजरात में जूनियर डॉक्टर से रेप के आरोप में रेजिडेंट डॉक्टर गिरफ्तार

नयी दिल्ली। गुजरात में एक सरकारी मेडिकल कॉलेज में अपनी कनिष्ठ सहयोगी से कथित रूप …