Breaking News
Home / विदेश / अमेरिक ने गिराया ISIS के ठिकानों पर सबसे बड़ा बम, 36 आतंकियों की मौत, एक भारतीय के मौत पर सस्पेंस
isis

अमेरिक ने गिराया ISIS के ठिकानों पर सबसे बड़ा बम, 36 आतंकियों की मौत, एक भारतीय के मौत पर सस्पेंस

वॉशिंगटन/नई दिल्ली: अमेरिका ने कल शाम अब तक का सबसे बड़ा गैर एटमी बम अपगानिस्तान पर गिराया। अफगान अधिकारियों द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक इस हमले में करीब 36 आंतकीयों की मारे जाने की खबर हैं। साथ ही इस हमले में एक भारतिय नागरिक के भी मारे जाने की खबर हैं। मिली जानकारी के मुताबिक भारतीय नागरिक मुर्शीद के मारे जाने की खबर हैं। बताया जा रहा हैं कि मुर्शीद केरल का रहने वाला हैं। हांलकी ये पूरी तरह से अभी स्पष्ट नहीं है।

जानकारी दे दें कि पिछले साल केरल से 22 लोगों के लापता होने की खबर थी जसमें पांच महिलांए भी शामिल थी। बताया जा रहा था कि इनमें से 17 लोग अफगानिस्तान के नंगरहार क्षेत्र में रह रहे थे। और ये सारे लोह टेलीग्राम के जरिये अपने परिवार के संपर्क में थे।

इसी क्षेत्र में कल शाम अमेरिका ने हमला बोलते हुए अब तक का सबसे बड़ा गैर एटमी बम जिसका वजन करिब 10 हजार किलों ग्राम था वो गिराया हैं। इस तरह राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति बनने से पहले जनता द्वारा किया गया वादा पूरा किया। अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान में ISIS के खिलाफ किये गए कार्रवाई में ये सबसे बड़ा कार्रवाई हैं।

कार्रवाई करने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने  व्हाइट हाउस को संबोधित करते हुए कहा कि वास्तव में यह एक सफल अभियान रहा हैं। हमे अपनी सेना पर गर्व हैं। उन्होंने आगे कहा कि मुझे नहीं पता कि इससे उत्तर कोरिया पर फर्क पड़ता है कि नहीं। लेकिन उत्तर कोरिया एक समस्या है जिसका समाधान हम जल्द निकालेगें। वहीं व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हमला अफगानिस्तान के स्थानीय समयानुसार करीब शाम सात बजे किया गया था।

जानकारी दे दे कि यह हमला अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांच के अचिन जिले में किया गया। अमेरिकी सेना ने सुरंगों और बंकरो पर 10 हजार किलों का बम गिराया। ये जगह पाकिस्तान के पेशावर से महज 150 किमी दूर है वहीं दिल्ली से इसकी दूरी करीब 1000 किमी होगी।

bomb-gfx-1

इस हमले से ये साफ हो जाता है कि अमेरिका ने ISIS के खिलाफ खुली जंग छेड़ दी हैं। ज्ञात हो कि हफ्ते भर पहले ही अमेरिका ने सीरिया पर 50 से भी ज्यादा मिसाइले दागी थी। जिससे ये साफ हो जाता है कि अमेरिका ISIS के खिलाफ चौतरफा हमले की रणनीति अपना रहा हैं। अमेरिका द्वारा किए गये इस हमले में कितने आतंकी अब तक मारे गए है और ISIS  को कितना नुकसान हुआ है इसकी सटीक अंदाजा लगाना फिलहल मुश्किल हैं।

जिस बम से अमेरिका ने ISIS पर हमला किया है उस बम को सभी बमों की जननी भी कहा जाता हैं। यह अमेरिका द्वार बनाया गाया सबसे बड़ा गौर परमाणु बम हैं। यह बम जमीन पर गिरने से ठिक पहले फटता हैं और इसका दायरा काफी बड़ा होता हैं। इस बम की खासियत है कि ये अंडरग्राउंड टारगेट को भी नष्ट कर देता हैं।

जानकारी दे दे कि GBU-43 को मार्ट 2003 में इराक युद्ध से ठीक पहले टेस्ट किया गया था। GUB_43 का वजन 21,600 पाउंड यानी करीब 9,797 किग्रा हैं। इसमे 11 टन विस्फोटक पदार्थ होता हैं। पेंटागन के प्रवक्ता एडम स्टंप ने इस बात कि जानकारी दे कि यह पहली बार है जब अमेरिका ने इस बम का इस्तेमाल किया हैं।

Next9News

Check Also

Argentina Police

महिला सिपाही ने ड्यूटी पर ऐसा क्या किया कि उसे मिल गया प्रमोशन

नयी दिल्ली। अर्जेंटीना में कुछ ऐसा हुआ जिसकी चर्चा दुनिया में हो रही है। एक …