Breaking News
Home / गीत-गज़ल / ….जब तक खुली आंख रहे तब तक याद आते हो
sad song

….जब तक खुली आंख रहे तब तक याद आते हो

जब चांद आसमां से ताकता है याद आते हो,

जब तक खुली आंख रहे तब तक याद आते हो।

ख्बावों में यूं तो मिलना रोज़ ही होता है अक्सर,

अगर नहीं मिलती हो तो ख्यालों में याद आते हो।

कहने को गुज़र रही है उम्र बस यूं ही तन्हा,

मगर जब दीवारों से बातें करते हैं तो याद आते हो।

मेरी आंखों ने देखे हैं दर्द के तमाम मंजर मगर,

जब देखता हूं सूना आंगन तो तुम याद आते है।

खाक में मिलना तो है एक दिन मुझे लेकिन अमन,

बांहों में मरने को दिल चाहे तो तुम याद आते हो ।

अमन का ख्याल…

Check Also

sad love

… अब खुशी है न कोई दर्द रुलाने वाला

जो गुजारी न जा सकी हमसे, हमने वो जिंदगी गुजारी है। अब खुशी है न …