Breaking News
Home / देश / बैंक में नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों की धोखाधड़ी करने वाले रैकेट का पर्दाफाश
bank fraud

बैंक में नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों की धोखाधड़ी करने वाले रैकेट का पर्दाफाश

नयी दिल्ली। झारखंड के एक गांव में रहने वाले हाई स्कूल पास युवक ने बैंक में नौकरी दिलवाने के नाम पर एक लाख अधिक भोले भाले युवको को करोड़ों रुपये की चपत लगायी। इस बात का खुलासा दिल्ली पुलिस ने किया है। पुलिस के शिकंजे में आये सरगना ने बताया कि उसने आरबीएल बैंक में कस्टमर केयर विभाग में नौकरी दिलवाने के नाम पर दिलवाने के लिये गांव के 200 युवकों को निजी तौर परे ट्रेनिंग दिलवायी। इनसे फर्जी बैंक खाताधारकों से काॅल भी करायी। इन फर्जी बैंक प्रतिनिधियों के जरिये बैंक खाता धारकों के खाते से ओटीपी के जरिये करोड़ों रुपये की चपत लगाते थे।पुलिस ने यह भी बताया कि यह युवक पिछले पांच सालों माओवादी संगठन से जुड़ा था। इस गिरोह को चलाने में वो नक्सली ग्रुप का सहयोग लिया करता था।

इस गिरोह का शिकार आनंद विहार में रहने वाले बैंक खाताधारक हुआ जिसके खाते से 1.90 लाख रुपये को फर्जी तरह से निकाल लिया गया। इस मामले की तहत में जाने के लिये पुलिस की एक टीम जांच के लिये झारखंड के एक गांव में गयी जहां से ई वालेट गिरोह का संचालन ंिकया जा रहा था। बैंक खाता धारकों से गिरोह के सदस्य अपनी बातों में उलझा कर उसके डेबिट और केडिट कार्ड ई वालेट का ओटीपी नंबर जान लेते थे। बाद में उसके खाते से लाखों रुपये निकाल लिये जाते थे। इस गिरोह का नेटवर्क देश के अनेक हिस्सों में फैला हुआ है।

झारखंड का रहने वाला 35 वर्षीय राम कुमार मंडल हाई स्कूल तक ही पढ़ा है। उसके बाद 2014 वह काम करने के लिये मुंबई गया जहां उसने मोबाइल शाप में काम किया। यहां रह कर ही मंडल ने ई बिलिंग करना सीखा। वापस झारखंड आ कर उसी को उसने ठगने का जरिया बना लिया। दिल्ली पुलिस ने अभियुक्त को उस वक्त धर दबोचा जब वो अपने गांव के घर में पैदल जाने की फिराक में था। इससे पहले भी मंडल को पुलिस पकड़ा था जिसके कारण उसे कुछ महीने जेल में काटने पड़े थे।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

nirankari

निरंकारी संत माता सविंदर हरदेवजी महाराज आज निरंकार में लीन

दिल्ली। पूज्य माता सविंदर हरदेवजी महाराज आज निरंकार में लीन हो गयीं। उन्होंने आज सायं …