Breaking News
Home / देश / चुनाव स्पेशल / मेघालय में बीफ बैन पर भाजपा को झटका, एक सप्ताह में एक और नेता ने दिया इस्तीफा
cow-cattle-road-generic-istock_650x400_71496719999

मेघालय में बीफ बैन पर भाजपा को झटका, एक सप्ताह में एक और नेता ने दिया इस्तीफा

नयी दिल्ली। मेघालय में होने वालों को लेकर राजनीतिक दल सक्रिय हो गये हैं। भाजपा यहां काबिज होने को लालायित हो रही है। लेकिन बीफ बैन को लेकर स्थानीय नेता काफी असंतोष दिख रहा है। एक सप्ताह के भीतर मेघालय के दो नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दिया है। इन इस्तीफों से पार्टी आगामी चुनावों में झटका लग सकता है।
कुछ दिनों पहले वेस्ट गारो हिल्स के जिला अध्यक्ष बर्नाड मारक ने पार्टी से इस्तीफा दिया था। इस्तीफा देने से पहले उन्होंने मेघालय में बीफ बैन का विरोध करते हुए कहा था कि यदि उनकी पार्टी सरकार बनाती है तो बूचड़खानों की स्थिति में सुधार किया जायेगा। आम लोगों को उचित मूल्य पर बीफ उपलब्ध कराया जायेगा। प्रदेश के बहुत बीजेपी नेता बीफ खाते हैं। पार्टी में उनके इस बयान की काफी निंदा हुई थी। इसी कड़ी में मेघालय के ही एक बड़े नेता बच्चू मारक ने भी बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है। बच्चू मारक ने अपना इस्तीफा प्रदेश अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह को सौंप दिया है।
बच्चू मारक ने केन्द्र सरकार के तीन साल पूरे होने पर वेस्ट गारो हिल्स में एक बीफ फेस्ट के आयोजन की पोस्ट सोशल मीडिया पर डाला था। इसे लेकर शीर्ष नेताओं में काफी रोष था। इस्तीफा सौपने के बाद बच्चू मारक ने कहा कि मैं गारो की भावनाओं से समझौता नहीं कर सकता। गारो होने के नाते मेरा दायित्व है कि अपने समुदाय की रक्षा करूं। बीफ खाना हमारी संस्कृति व परंपरा है। भाजपा का गैरधमनिरपेक्ष विचारधारा हम पर थोपना स्वीकार्य नहीं।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

traders strike

जीएसटी के विरोध में कपड़ा व्यापारियों की तीन दिवसीय हड़ताल शुरू

नयी दिल्ली। केन्द्र सरकार देश में जीएसटी लागू करने की कवायद में जुटी है वहीं …