Breaking News
Home / देश / बीएसएनएल कर्मी 12 से दो दिवसीय हड़ताल पर
bsnl

बीएसएनएल कर्मी 12 से दो दिवसीय हड़ताल पर

नयी दिल्ली। थर्ड पे कमीशन को कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद भी बीएसएनएल कर्मचारियों को बढ़ा हुआ वेतनमान नहीं दिया जा रहा है। इससे कर्मचारियों में काफी रोष है। पे रिवीजन कमेटी ने यह कहा है कि जिन पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग कंपनियों में मुनाफा नहीं हो रहा है उन्हें थर्ड पे कमीशन नहीं दिया जायेगा। इसके अलावा कर्मचारी टाॅवर कंपनियों को मिलने वाले अनुदान का भी विरोध कर रहे हैं।

बीएसएनएल एसोसियेशन के पदाधिकारी पी अभिमन्यु ने एक प्रेस रिलीज के जरिये जानकारी दी है कि सरकार की खराब नीतियों के कारण 2009-10 और उससे आगे बीएसएनएल को काफी घाटा उठाना पड़ा था। मालूम हो कि 2004-5 में बीएसएनएल ने 10 हजार करोड़ का शुद्ध लाभ अर्जि किया था। 2006-12 के बीच केन्द्र ने बीएसएनएल के हितों की अनदेखी करते हुए निजी मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों को फायदा पहुंचाया। इसकी वजह से बीएसएनएल को काफी घाटा उठाना पड़ा। इस बात को मानते हुए पूर्व दूर संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सार्वजनिक रूप से मीडिया को बयान भी दिया है।

दूसरी ओर कर्मचारियों ने सर्विस क्वालिटी को सुधारने के लिये कस्टमर डिलाइट ईयर व सर्विस विद ए स्माइमल जैसे कार्यक्रमों का आयोजन कर ग्राहकों को बेहतर सर्विस देने का प्रयास किया। प्रबंधन और कर्मचारियों के बेहतर तालमेल से 2013-14 में 27,966, 2014-15 में 28,645 और 2015-16 में 32,919 करोड का मुनाफा कमाया। 2013-14 में बीएसएनएल का आपरेशनल घाटा 691 करोड़ था लेकिन 2016-17 में भारत संचार ने 3854 करोड का आपरेशनल प्राॅफिट कमाया है। ऐसे में पे रिवीजन कमेटी का कहना कि बीएसएनएल लाभ नहीं दे रही है गलत होगा। इससे कर्मचारियों का मनोबल टूट रहा है। अपनी इन मांगों के लिये 12 व 13 दिसंबर को सांकेतिक हड़ताल करने जा रही है। इस हड़ताल में बीएसएनएल की सभी यूनियंस शामिल होने जा रही है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Rahu and Raj

मोदी मुक्त भारत बनाने के लिये राज ठाकरे और कांग्रेस में पक रही है खिचड़ी

नयी दिल्ली। आगामी आम चुनाव में मोदी मुक्त भारत बनाने के लिये कांग्रेस और महाराष्ट्र …