Breaking News
Home / देश / भाजपा को हराने के लिये बसपा, सपा और कांग्रेस करेंगे लामबंदी
govt of karnataka

भाजपा को हराने के लिये बसपा, सपा और कांग्रेस करेंगे लामबंदी

नयी दिल्ली।यूपी के उपचुनावों में बसपा और सपा के गठबंधन को मिली सफलता से जहां मोदी के कान खड़े कर दिये हैं वहीं विपक्षी सपा, बसपा और कांग्रेस को यह सीख दी है कि भाजपा को आने वाले चुनावों मंे मात देनी है तो विपक्ष को एकजुट होना ही होगा। इसका फायदा गोरखपुर, फूलपुर और कैराना के उपचुनावों में विपक्ष को मिला है। सपा, बसपा और कांग्रेस इसी फार्मूलों को अब 2019 के आम चुनावों में कमर कस कर उतरने की सोच रही है।

इसी क्रम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा की शर्तों पर गठबंधन करना स्वीकार कर लिया है। मायावती औ अखिलेश की एक खास बैठक में यह तय हुआ कि बसपा प्रदेश में अधिक सीटों पर चुनाव लड़ेगी और सपा उनके उम्मीदवारों को समर्थन दे कर विजयी बनायेगी। वहीं बसपा सपा उम्मीदवारों के समर्थन में रैलियां व जनसभाएं करेगी। अखिलेश ने बसपा सुप्रीमो की यह बात सिर्फ इसलिये मानी है क्योंकि वो हर हाल में बीजेपी उम्मीदवारों को हराना चाहते हैं। यूपी के विधानसभा चुनाव में विपक्ष के बिखरने के कारण भाजपा ने प्रदेश में प्रचंड बहुमत वाली सरकार बना ली और सपा, बसपा और कांग्रेस को हाशिये पर ला दिया। उप्र में आगामी चुनाव में कांग्रेस इस गठबंधन के जरिये अपनी साख को पाने का प्रयास करेगी।

कर्नाटक में कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में जिस तरह विपक्षी दल एक मंच पर एकजुट दिखे उससे लगता है कि आने वाले आम चुनाव में बीजेपी का दोबारा सत्ता में आने का सपना दिवास्वप्न ही रह जायेगा। मंच पर टीएमसी की ममता बनर्जी, समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार, टीडीपी अध्यक्ष चंद्र बाबू नायडू, टीआरएस के अध्यक्ष और तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव, राजडी के आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल, तेजस्वी यादव और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत सोनिया गांधी एक साथ थे। कर्नाटक सरकार में बसपा के एक मात्र विधायक को मंत्री बनाया गया है।

कांग्रेस इसी साल मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में मजबूती से चुनाव लड़ रही है। उसका चुनाव प्रचार पिछले दो साल से लगातार चल चल रहा है। यहां वो भाजपा को सीधी और कड़ी टक्कर देते दिखाई दे रही है। कांग्रेस नेता प्रदेश सरकार के खिलाफ कांग्रेस लगातार धरने प्रदर्शन कर जनता के बीच अपनी पैठ बनाते दिख रहे हैं। वहीं पार्टी का प्रयास बसपा को भी अपने साथ मिला कर भाजपा को चैतरफा घेरने की तैयारी में जुट गयी है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

kambal

दस करोड़ रुपये और मंत्री पद के लालच में बीजेपी में शामिल होने का आॅफर

नयी दिल्ली। छत्तीसगढ़ में चुनावी माहौल गर्माने लगा है। हाल ही में कांग्रेस का कार्यवाहक …