Home / Blog (page 8)

Blog

आपका एक Compliment बना सकता हैं किसी का दिन…

crowded-place-in-delhi

आप जब सुबह के समय घर से निकलते हैं तो न जाने कितने ही लोगों से आपका सामना होता है, जिनमें से कुछ पर आपकी निगाहें टिकी रह जाती है। तो कुछ आपकी नजरों से ओझल हो जाते हैं। वहीं कुछ लोगों की कई चीजें आपको सोचने पर मजबूर कर …

Read More »

सुरक्षित हाथों में है भारतीय क्रिकेट का भविष्य

future-of-team-india

हमारे मुल्क़ में शायद क्रिकेट को इसी लिये सिर आंखों पर रखा जाता है क्योंकि इस खेल ने देश को तमाम बार अपना सीना गर्व से चौड़ा करने का मौका दिया है। इसी क्रम में एक बार फिर से भारत ने मील का पत्थर स्थापित करते हुए 500 टेस्ट खेलने …

Read More »

आया राम गया राम की राजनीति

politicks

चुनाव से पहले नेताओं का दलबदलू होना राजनैतिक गलियारो के लिए चिंता का सबब हैं, जिसमें जनता इस कशमकश में रह जाती है कि हम अपने नेता के साथ जायें या पार्टी के साथ। आजकल यही हालात यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव के मध्य नजर देखने को मिल रहा …

Read More »

शहादत देने वाले सैनिक

indian_soldiers

सीमा पर देश के लिये शहादत देने वाले सैनिकों के परिवार वालों पर क्या गुज़रती  है यह उसके घरवालों से मिलकर पता चलता है। दरअसल कश्मीर के उरी में जिस तरह से आतंकी हमले में देश ने जिस तरह से 17 जवानों को खोया उसने एक बार फिर से भारतीय …

Read More »

सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाते आतंकी हमले

terririst-attack

भारत दुनिया के उन गिने-चुने देशों में से एक है जहां पर हर मज़हब को बराबरी के साथ रहने का हक़ है, यानि अगर किताबी भाषा में कहें तो भारत धर्मनिर्पेक्ष मुल्क है। भारत में हर धर्म और हर मज़हब के लोगों को अपना धर्म मानने की पूरी आज़ादी है। …

Read More »

चिंता में लीन कश्मीर

kashmir

जम्मू कश्मीर पर हुए आतंकी हमले की निंदा इन दिनों चारों तरफ की जा रही है। रविवार तड़के आर्मी हेडक्वार्टर पर हुए इस आतंकी हमले में देश के कई सैनिक शहीद हो गए। जहां एक ओर सरकार इस पूरे मसले पर बेहद ही सक्रिय नजर आ रही है तो वहीं …

Read More »

टीआरपी की दौड़ ने पत्रकारों को बेकार कर दिया ?

journalist

पत्रकारिता को समाज के साथ जोड़ना आज के समय की जरूरत बनी हुई हैं। लेकिन क्या आज के हालातों का जायजा सही ढ़ग से टीवी जगत पर लिया जा रहा है इस बारे में सोचना हमारी जिम्मेदारी हैं मगर इस पर कोई सवाल नहीं करता हैं। रोज शाम को हम …

Read More »

असरदार रहा शहाबुद्दीन का सरताज

shahbuddin-bhagalpur

बाहुबली नेता पूर्व सासंद शहाबुद्दीन के जेल से रिहा होते ही बिहार कि राजनीति में भुचाल सा आ गया। जेल से बाहर आते ही शहाबुद्दीन ने मुख्यमंत्री नितीश कुमार को परिस्थितियों का मुख्यमंत्री बताया जिसके बाद महागठबंधन मे घमासान मच गया। बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने यहा तक …

Read More »

युवा भारत का गुलाम बचपन…

child

खुद का बचपन तो बच्चों की तरह गुजार दिया, इन बच्चो पर बड़ो का बोझ लाद दिया… एक जिन्दगी बचपन की ओर हा चल पड़ी करने यादो को ताजा! रोना-धोना, खुशियाँ, चकल्लसः, मनोरजंन, लड़ना-झगड़ना यही से शुरुआत होती है बचपन की, जहाँ न तो कोई चिंता है, न ही भ्रम ! …

Read More »