Breaking News
Home / देश / दिल्ली की चुनी हुई सरकार लोकतंत्र में अहम्, एलजी दिल्ली के सर्वे सर्वा नहींः सुप्रीमकोर्ट
cm kejriwal and lg

दिल्ली की चुनी हुई सरकार लोकतंत्र में अहम्, एलजी दिल्ली के सर्वे सर्वा नहींः सुप्रीमकोर्ट

नयी दिल्ली। दिल्ली सरकार और एलजी के बीच चल रहे मन मुटाव को दूर करने के लिये देश की उच्चतम न्यायालय ने एक अहम् फैसला दिया है। पांच जजों की एक खण्डपीठ ने यह फैसला दिया है कि एलजी और सरकार को एक दूसरे के साथ सौहार्द के माहौल में काम करना चाहिये। एक दूसरे का सम्मान करना चाहिये क्योंकि दोनों ही संवैधानिक पद हैं। एलजी दिल्ली के सर्वेसर्वा नहीं हैं उन्हें दिल्ली सरकार की कैबिनेट के फैसलों पर रोक लगाने या उन्हे बाधित करने का अधिकार नहीं हैं। चुनी हुई सरकार लोकतंत्र में अहम् होती है। उसकी जनता के प्रति जवाबदेही होती है। सरकार और एलजी के बीच टकराव होने से दिल्ली की जनता को परेशानी उठानी पड़ती है। संवैधानिक पदों पर बैठे एलजी और सीएम को आपसी तालमेल बना कर दिल्ली की जनता का ख्याल रखना होगा।

इस प्रकार के फैसले से दिल्ली सरकार के मंत्रियों और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं में एक जोश भर दिया है। अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्वीट में कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय के फैसले से दिल्ली की जनता को काफी राहत मिलेगी। यह जनता की जीत है हम सुप्रीमकोर्ट के इस साहसिक फैसले का स्वागत करते हैं। यह कहना गलत न होगा कि आज के फैसले ने दिल्ली सरकार के जख्मों पर मरहम लगाने का काम किया है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले में यह भी कहा गया है कि सरकार 63 मामलों में फैसले लेने को स्वतंत्र है लेकिन उनकी जानकारी एलजी को देना होगा। एलजी किसी मामले में स्वयं फैसला नहीं ले सकते हैं इसका उन्हें अधिकार नहीं है। लेकिन पूर्ण राज्य का दर्जा देना हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं है उसके लिये संसद में विधेयक लाने के बाद इस पर कुछ होने की संभावनाएं हो सकती है। इस ऐतिहासिक फैसले के बाद दिल्ली सरकार के मंत्री और सीएम का मनोबल काफी बढ़ गया है।

इस फैसले के आने के बाद दिल्ली सरकार बहुत से फैसले कैबिनेट में लेने के बाद उसे जनता के हित में लागू कर सकेगी। उन फैसलों को एलजी के पास सूचनार्थ भेज दिया जायेगा। लेकिन अब भी ये बड़ा सवाल है कि प्रशासनिक अधिकारी अब सरकार की सुनंेगे या अब भी वो एलजी की ही गणेश परिक्रमा करेंगे। कुछ हद तक सुप्रीमकोर्ट ने यह साफ कर दिया कि चुनी हुई सरकार ज्यादा अहम् होती है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

accident_onedeath

एक तरफ झण्डा रोहण दूसरी ओर मौत का मातम

नयी दिल्ली।बुधवार की सुबह सारा देश स्वतंत्रता दिवस के समारोह की तैयारी में जुटा था। …