Breaking News
Home / देश / ईडी और वित्त सचिव में भी खिंची हैं तलवारें, हो सकता है धमाका
hasmukh

ईडी और वित्त सचिव में भी खिंची हैं तलवारें, हो सकता है धमाका

नयी दिल्ली। सीबीआई के आला अफसरों के बीच अंदरूनी कलह का खुलासा हो चुका है। इसमें देश की फजीहत हो रही है। लेकिन इससे भी बड़ा हाई वाल्टेज सीन ईडी और वित्त सचिव के बीच चल रहा है। इसकी भनक कुछ ही खास लोगों को है।

इस साल 11 जून की बात है जब टू जी घोटाले की जांच कर रहे ईडी के ज्वाइंट डायरेक्टर राजेश्वर सिंह ने देश के वित्तसचिव हसमुख अधिया के खिलाफ ऐसी चिट्ठी लिख दी, जिसने ‘लुटियन्स जोन’ में खलबली मचा दी। राजेश्वर सिंह ने आठ पन्नों की इस चिट्ठी में हसमुख अधिया के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाए। उन्हें स्कैममास्टर्स यानी घोटालेबाजों के साथ खड़ा होने वाला करार देते हुई कई तीखे सवाल किए थे। राजेश्वर सिंह ने कहा-मंत्रालय के हर पैमाने पर काबिल पाए जाने के बावजूद मेरे प्रमोशन पर विचार नहीं किया गया। क्या घोटालेबाजों और उनके सहयोगियों का पक्ष लेकर उनसे बैर पाल लिया है।’ इसमें उन्होंने उनकी प्रोन्नति की अनदेखी करने, ‘राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने’ और ‘अहंकार के कारण बदला लेने’ का मुद्दा उठाया।

बहरहाल, शुरुआत में इस लेटर की किसी को खबर नहीं हुई। इस बीच राजेश्वर सिंह के खिलाफ दुबई के एक संदिग्घ व्यक्ति से बातचीत करने और अन्य तरह की शिकायत का मामला सुप्रीम कोर्ट में जाता है। राजेश्वर अपने खिलाफ शिकायतों को झूठा करार देते हैं, मगर सुप्रीम कोर्ट उनके खिलाफ जांच से किसी तरह की छूट नहीं देता। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राजेश्वर सिंह का 11 जून को ईडी के डायरेक्टर करनैल सिंह और रेवेन्यू सेक्रेटरी को लिखा सनसनीखेज पत्र अचानक सरकारी फाइलों से बाहर आ जाता है। सार्वजनिक हुए इस पत्र से ईडी से लेकर वित्तमंत्रालय के दोनों अफसरों के बीच मचे घमासान का खुलासा होता है।

राजेश्वर की ओर से लगाए आरोपों का बाद में हसमुख अधिया जवाब देते हैं। इस बीच  राजेश्वर सिंह के खिलाफ वित्तमंत्रालय की ओर से चार्जशीट भी पेश होती है। सूत्र बताते हैं कि देश के वित्त सचिव और ईडी के ज्वाइंट डायरेक्टर के बीच मचे इस घमासान को शांत कराने के लिए तब ऊपर से दखल होता है. जिसके बाद ईडी के ज्वाइंट डायरेक्टर राजेश्वर सिंह आरोपों को वापस लेने के साथ एक पत्र लिखते हैं, कहते हैं- उन्होंने आवेश में आकर हसमुख अधिया के खिलाफ आरोप लगाए थे। तब जाकर यह मामला शांत होता है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …