Breaking News
Home / देश / कारोबारी के यहां ईडी का छापा, बाथरूम से मिले 93 लाख के नए नोट

कारोबारी के यहां ईडी का छापा, बाथरूम से मिले 93 लाख के नए नोट

कर्नाटक: पीएम मोदी के ऐसिहासिक फैसले और काला धन मुक्त भारत के सपने पे कुछ लोग पानी फैरना चाह रहे है। नोटबंदी के बाद कर्नाटक में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने छापेमारी में 7 दलालों को किया गिरफ्तार किया है। जिसमें 93 लाख के नए नोट जप्त किए गए है। नोटबंदी के बाद काले धन को सफेद करने का कला कारोबार तेज़ी से फैलने लगा है, मगर ऐसे काले कारोबारियों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पैनी नज़र है।

इसे भी पढ़े : कहीं 170 करोड़, तो कहीं 43 लाख के नए नोटों के साथ अभिनेता गिरफ्तार

इसी बाबत कर्नाटक एक हवाला कारोबारी केवी वीरेंद्र ने बाथरूम 93 लाख के नए नोट जप्त किए गए है। ईडी ने जाल बिछाकर इन्हें गिरफ्तार कर लिया , इस काले धन के गोरखधंधे के तार कई बैंक अधिकारियों से जुड़े लग रहे हैं। सीबीआई इसकी जांच कर रही है और कर्नाटक में कई जगहों पे छापेमारी भी शुरु हो गई है।

पिछले कुछ दिनों में नोटबंदी के बाद भारी मात्रा में अवैद नकदी देशभर के कई हिस्सों से पकड़ी जा रही है। कर्नाटक में भी कई छापेमारियां  की गई और अब तक 5.70 करोड़ के नए नोट बरामद किए गए हैं।। कर्नाटक में हाल ही के दिनों में राज्य सरकार ने  12 दिसंबर को  को केएएस अधिकारी एल बीमा नाइक को जनार्दन रेड्डी के कालेधन को सफेद करने में मदद के आरोप में सस्‍पेंड कर दिया।नोटबंदी के दौर में  भी कर्नाटक में कुछ दिन पहले ही जनार्दन रेड्डी ने अपनी बेटी की शादी पर अच्छा ख़ासा खर्च किया जिससे देख लगता नहीं  है ,की उन पर नोटबंदी का कोई असर हुआ हो। सूत्रों के हवाले से खबर है की उनकी बेटी की शादी का खर्च लगभग 500 करोड़ आया था।

इसे भी पढ़े : आयकर विभाग ने मारे छापे 4.5 करोड़ रुपए के नए नोट बरामद किए

शायद इसी वजह से जनार्दन रेड्डी इनकम टैक्स की नज़र में आ गए और उनके बेल्लारी स्थित ओबुलापुरम माइनिंग कंपनी के दफ्तर में 12 दिसम्बर की रात इनकम टैक्स ने छापेमारी की। उनके दफ्तर से कई अहम फाइलें भी ज़प्त कि गई। नोटबंदी के समय पर ऐसी शाही शादी से कर्नाटक के पूर्व मंत्री और खनन कारोबारी जनार्दन रेड्डी चर्चा का विषय भी बने हुए है और इनकम टैक्स भिभाग की नज़र में आ गए है। कर्नाटक हो या देश का कोई अन्ह हिस्सा काले धन को सफ़ेद करने की कोशिशें लगातार बढ़ रही है और इनकम टैक्स और  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी सतर्क हो गया है।

Next9News

Check Also

पंजाब में कांग्रेस के अभी भी असली सरदार है मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब कांग्रेस का एक वर्ग कैप्टन अमरिंदर सिंह को चूका हुआ मान रहा है। इनकी …