Breaking News
Home / देश / हरियाणवी डांसर सपना ने की है, मूल रागनी से छेड़छाड़
07_1467796816

हरियाणवी डांसर सपना ने की है, मूल रागनी से छेड़छाड़

विदास एक ही नूर ते जिमि उपज्यो संसार, ऊंच-नीच किह बिध भये बाह्मन अरु चमार। संत रविदास के इस दोहे में धर्म और जाति व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाया गया है। दोहे का सार यही है कि समाज में ऊंच-नीच को और जातियों को आखिर बनाया ही क्यों गया है। वैसे दोहे की बात इसलिये भी हो रही है क्योंकि हाल ही में हरियाणा की मशहूर गायिका और डांसर सपना चौधरी ने एक ऐसा गीत गा दिया है जिसकी उम्मीद कम से कम उनसे तो किसी को नहीं थी। जब उन्होंने इस गाने को गाया, तो उसके बाद उनके इस गीत ने जो बवाल मचाया, वो अभी तक थमने का नाम नहीं ले रहा है।

एक विशेष जाति धर्म को नीचा दिखाता हुआ सपना का यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी खूब वाय़रल हुआ। फरवरी में सपना ने इस गीत को अपने एक कार्यक्रम में गाया था, जिसके बाद इसे यू ट्यूब पर अपलोड कर दिया गया था। इस गीत की पंक्तियों इतनी भद्दी थीं कि यहां पर उनका ज़िक्र करना भी मुनासिब नहीं है। वैसे इन गीतों में इस्तेमाल की गईं लाईनों की जब जांच की गई तो यह बात सामने आई, कि उन्होंने एक रागिनी को बेहूदा अंदाज़ में पेश करके, एक जाति को नीचा दिखाने का प्रयास किया है।

वैसे आपको याद दिलाते चलें कि हाल ही में हरियाणवी म्यूजिक कम्पनी मोर म्यूजिक ने सपना चौधरी के साथ अपना नाता हमेशा-हमेशा के लिये तोड़ लिया था। मोर म्यूजिक की तरफ से बयान देकर बकायदा बोला गया था, कि अब सपना का उनकी कंपनी से किसी तरह का कोई लेना-देना नहीं है। वैसे इससे पहले सपना के खिलाफ हिसार और गुड़गांव में जाति सूचक गाने को लेकर एफआईआर तक दर्ज कराई गई थी। ख़ैर इस बात के खुलासे के बाद सपना के ऊपर क्या कार्यवाई होती है, ये देखने वाली बात होगी।

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …