Home / खेल / “चैंपियंस ट्रॉफी” सुपर सन्डे “महा-मुकाबला” की खास बातें
india vs pakistan

“चैंपियंस ट्रॉफी” सुपर सन्डे “महा-मुकाबला” की खास बातें

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को लंदन के ओवल मैदान पर ICC चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का फाइनल मुकाबला खेला जायेगा। दुनिया की सबसे कट्टर प्रतिद्वंद्विता को देखने के लिए करोड़ों क्रिकेट फैंस बेताब हैं।  लेकिन क्या आप जानते हैं की एकदिवसीय  मुकाबलों में टक्कर के मामले में पाकिस्तान जीत के मामलों में भारत से कहीं आगे है भारत और पाकिस्तान के बीच 128 एकदिवसीय मैच खेले गए हैं जिनमे पाकिस्तान ने 72 तो भारत ने 52 मुकाबले जीते हैं वहीं 4 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला। हालांकि पिछले दस सालों में भारत ने जीत-हार के फासले को काफी कम किया है।

भले ही पाकिस्तान को पहले मैच में भारत के हाथों करारी शिकस्त मिली थी लेकिन इसके बावजूद चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में उनके गेंदबाज़ी आंकड़े भारत के मुकाबले बेहतर हैं। टूर्नामेंट में पाकिस्तान का गेंदबाज़ी औसत 34.82 है वहीं भारत का गेंदबाज़ी औसत 39.47 है। अगर हम स्ट्राइक रेट और इकॉनमी  की बात कर ले तो इस मामले में भी पाकिस्तान, भारत से आगे है। पाकिस्तान की गेंदबाज़ी का  स्ट्राइक रेट 42.2 है जबकि भारत का 46.1, इतन ही नहीं  पाकिस्तान का इकॉनमी रेट 4.94 है जबकि भारत का इकॉनमी रेट 5.13 है। तो वहीं पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ हसन अली टूर्नामेंट में सबसे अधिक 10 विकेट हासिल कर चुके हैं। भारत खिताब का दावेदार है और इससे कम पर वह कतई संतुष्ट नहीं हो सकता है भारत के बल्लेबाज फॉर्म में हैं, गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और क्षेत्ररक्षण भी बेहतरीन है, कुल मिलाकर विराट कोहली की टीम अभी खेल के तीनों विभाग में अव्वल नजर आ रही है।

भारत के स्टार बल्लेबाज शिखर धवन किसी भी गेंदबाज की बखिया उधेड़ने को बेताब है तो वही रोहित शर्मा भी कम नही है रन चेज मास्टर कोहली भी अपने प्रदर्शन को बेताब होंगे, रही सही कोर कसर पूरी करने के लिये युवराज और धोनी  है ही, परंतु सबकी निगाहे हार्दिक पंड्या पर ही होंगी। अब देखना यह है कि कल कौन सी टीम किस टीम पे भारी पड़ती हैं। जो टीम सर्वश्रेस्ठ प्रदर्शन करेगी वो जरूर ही जीतेगी। वैसे हमारे तरफ से कोहली और उनके टीम को शुभकामनाये।

उज्जवल प्रताप सिंह की रिपोर्ट

Next9News

Check Also

justice-cs-karnan

चर्चित पूर्व न्यायमूर्ति सीएस कर्णन गिरफ्तार, छह माह जेल की हवा खायेंगे

नयी दिल्ली। इस साल की शुरुआत से ही कोलकाता हाई कोर्ट के जस्टिस सीएस कर्णन …