Breaking News
Home / खुला खत / धर्म शासित देश की ओर बढ़ता भारत
mla bjp up

धर्म शासित देश की ओर बढ़ता भारत

तीन साल से भाजपा केन्द्र में शासन कर रही है। इन तीन सालों में देश का काफी विकास हुआ है। विदेशों में भारत की छवि में सुधार हुआ है। देश में बाहरी देश निवेश कर रहे हैं। ऐसा मोदी और उनकी सरकार का मानना है। युवाओं में मोदी सरकार से काफी उम्मीद है। लेकिन विपक्ष का मानना है कि देश में धर्म का शासन को बढ़ावा देने का काम कर रही है मोदी सरकार। गैर एनडीए दलों में इस बात की एक ही राय है। पिछले तीन सालों में गाय और धर्म को लेकर केन्द्र सरकार काफी संवेदनशील दिख रही है। इसको लेकर विपक्ष में काफी बेचैनी है।

डीएमके के कार्रवाहक प्रमुख स्टालिन का मानना है कि केन्द्र सरकार भारत को धर्मशासित देश बनाने का प्रयास कर रही है। ऐसे में देश के अन्य विपक्षी दलो को एकजुट हो कर केन्द्र सरकार की नीतियों का विरोध करना होगा।कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का मानना है कि देश में एक विचारधारा है जो सोचती है कि उनके पास सभी सवालों का जवाब है और जनता द्वारा झेले जा रहे विभिन्न मामलों पर दूसरों से बात नहीं करती है। पूरी दुनिया कह रही है कि अर्थ व्यवस्था में हुई गिरावट के लिये नोटबंदी जिम्मेदार है लेकिन जेटली और पीएम इस बात को मानने को तैयार नहीं हैं।

एनसीपी के माजिद मेनन कहते हैं कि देश में अघोषित आपातकाल से मुकाबले में करुणानिधि की सक्रियता जरूरी है। देश में फासीवाद और संप्रदायवाद की हवा देश को तोड़ने की कोशिश कर ही है। सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी कहते हैं कि मोदी सरकार के कारण जो चुनौतियां पेश आ रही हैं उनका सामना एकजुटता से ही किया जा सकता है। क्श्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह का मानना है कि हमें भाजपा को बता देना चाहिये कि भाजपा कांग्रेस और विपक्ष के बिना देश का सपना नहीं देख सकती हैं।

विनय गोयल के विचार

Next9news

Check Also

collage

क्या महागठबंधन अश्वमेघ यज्ञ का घोड़ा रोक सकेगा

पिछले आम चुनाव से पहले एनडीए के पीएम उम्मीदवार मोदी ने जनता के बीच घूम …