Breaking News
Home / देश / साइलेंट वैली को इंदिरा ने बचाया थाः ए लाइफ इन नेचर
indira-jairam

साइलेंट वैली को इंदिरा ने बचाया थाः ए लाइफ इन नेचर

नयी दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बारे अनेक अफवाहें हैं कि वो अपने आगे किसी की भी नहीं सुनती थी। उनके मंत्रियों को अपनी बात कहने का भी मौका नहीं मिलता था। लेकिन प्रधानमंत्री रहते हुए उन्होंने एक ऐसा काम किया जिसकी जानकारी शायद बहुत कम लोगों को होगी। पीएम के तौर पर इंदिरा गांधी ने चार दशक पहले केरल के वन वर्षा साइलेंट वैली को पार्टी के कुछ नेताओं के विरोध बाद भी बचाया था।

केरल के प्रभावी नेता के करुणाकरण और सांसद वीएस विजयराघव वहां एक पनबिजली परियोजना के तहत संयंत्र लगाने के पक्ष में थे। उनकी इस परियोजना के पक्ष वामपंथी दल भी समर्थन कर रहे थे। उनका मानना था कि अगर यह प्रोजेक्ट नहीं चालू किया गया तो स्थानीय विकास प्रभावित होगा। लेकिन इंदिरा गांधी ने किसी की बात न मानते हुए इस परियोजना को स्वीकृति नहीं दी थी।

इस बात का खुलासा कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री जयराम रमेश ने अपनी किताब ए लाइफ इन नेचर में किया है। इस किताब में जयराम रमेश इंदिरा गांधी के कुछ अप्रकाशित पत्र, नोटों और मेमो का समावेश किया है। रमेश ने अपनी किताब में साइलेंट वैली आंदोलन को चिपको आंदोलन के बाद बड़ा आंदोलन बताया है।

उन्होंने आगे लिखा है कि इस आंदोलन लड़ाई बड़ी ही कांटे की थी जिसेमें एक तरफ देश के बड़े नेता थे तो दूसरी ओर पर्यावरण विद् जिनको को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त था। इदिरा गांधी ने केरल के मुख्यमंत्रियों और कांग्रेस नेता ई नयनार को कड़ी चिट्ठी लिखकर अपना रुख साफ किया था।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …