Home / देश / जयंत बना जोइता, नेशनल लोक अदालत में बनी जज
joita

जयंत बना जोइता, नेशनल लोक अदालत में बनी जज

नयी दिल्ली। शनिवार का दिन किन्नर जोइता मंडल के लिये ऐतिहासिक दिन रहा। उसे नेशनल लोक अदालत में जज की हैसियत से नवाजा गया है। जोइता काफी समय से किन्नरों के हित की लड़ाई लड़ रही हैं। जोइता पहली बार उत्तर दिनाजपुर के इस्लामपुर कोर्ट में एक जज की तरह दिख रही थी। अन्य जजों की भांति वो सफेद कार से उतरीं। इस मौके पर बहुत सारे किन्नर इस शुभी मौके पर मौजूद थे। जोइता मंडल ने अपने समुदाय की प्रतिष्ठा को बढ़ाया है।
इस मौके पर ट्रांसजेंडर वेल्फेअर, इक्विटी एण्ड एंपावरमेंट ट्रस्ट की संस्थापक अभीना अहर का मानना है कि हमारे समुदाय से पहली बार किसी सदस्य को इतना सम्मानजनक और अहम् जिम्मेदारी मिली है। इससे समाज में हमारे प्रति लोगों की धारणाएं भी बदलेंगी। जोइता की तैनाती से हमारे समुदाय को एक नयी ऊर्जा और ताकत मिलेगी।
आज से लगभग सात साल पहले 2010 में एक बस स्टैंड पर सिर्फ उसे इसलिये थप्पड़ मारा था और होटल में प्रवेश करने रोक दिया था क्यों कि वो एक किन्नर थी। जोइता मानती है कि नेशनल लोक अदालत में एडिशनल जज का पद उनके और किन्नर समाज के लिये मील पत्थर साबित होगा। इस पद के जरिये वो मजलूम और किन्नर समाज को न्याय दिलाने में प्रयास करेंगी। जोइता की नियुक्ति इस्लामपुर के सब डिवीजनल लीगल सर्विसेज कमेटी ने आठ जुलाई को हुई। उनकी नियुक्ति समाजसेवा और शैक्षिक योग्यता के आधार पर की गयी है। वह 2011 से किन्नर समाज के बहुत सारे मामलों की लड़ाई लड़ती रही हैं।
जोइता जन्म से लड़का थीं तब उनका नाम जयंत था। जयंत के रूप में जोइता की पहचान बनाने में काफी परेशानी हो रही थी अतः वो सिलीगुड़ी चला गया। वहां वो जोइता के रूप में किन्नरों के हितों की लड़ाई में संघर्ष करने लगीं। बाद में उन्होंने एक समुदाय बना कर किन्नर समाज के उत्थान और सशक्तिकरण के लिये प्रयास करती रहीं।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

kovind with Bahoo

राष्ट्रपति की बहू लडेंगी बीजेपी के खिलाफ चुनाव

नयी दिल्ली। कानपुर के झींझक नगर पालिका का चुनाव में भाजपा के लिए उस समय …