Breaking News
Home / देश / जेएनयूएसयू चुनाव समिति पदाधिकारियों के साथ मारपीट, काउन्टिंग रोकी गयी
jnu1

जेएनयूएसयू चुनाव समिति पदाधिकारियों के साथ मारपीट, काउन्टिंग रोकी गयी

नयी  दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ चुनाव के लिए शुक्रवार को डाले गए वोटों की मतगणना रोक दी गई है।  आरोप है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के लोगों ने मतगणना में बाधा पहुंचाई है। चुनाव समिति के मुताबिक शुक्रवार रात 10 बजे शुरू हुई मतगणना को फिलहाल रोक दिया गया है। समिति के मुताबिक कुछ लोग मतगणना केंद्र पर पहुंचे और बैलेट बॉक्स और बैलेट पेपर को छीनने का प्रयास किया।

चुनाव समिति का आरोप है कि एक अध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद के प्रत्याशी ने चुनाव समिति की महिला सदस्यों के साथ मारपीट की। वाम संगठनों ने आरोप लगाया है कि देर रात एबीवीपी के उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं ने उत्पात मचाया है। देर रात सभी काउंसलर पदों में हार की सूचना से बौखलाए एबीवीपी समर्थकों ने मारपीट और तोडफोड़ की। इससे पहले जेएनयू छात्रसंघ चुनाव के लिए शुक्रवार सुबह 10 बजे से शाम 5.30 बजे तक वोट डाले गए। इस बार के चुनाव में 68 फीसदी विद्यार्थियों ने मतदान किया।

चुनाव समिति के मुख्य चुनाव अधिकारी हिमांशु कुलश्रेष्ठ ने कहा कि 2012 में सुप्रीम कोर्ट की लिंगदोह समिति की सिफारिशों को जेएनयू में लागू किया गया था। उसके बाद समिति की सिफारिशों के अनुरूप चुनाव होते रहे। बीते सात वर्षों में कभी भी 60 फीसदी वोट नहीं डाले गए, जबकि इस बार 68 फीसदी मतदान हुआ।

आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा), स्टूडेंट्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसएफआई), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) और आल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) ने साथ मिलकर संयुक्त वाम गठबंधन बनाया है।  गठबंधन ने स्कूल आफ इंटरनेशनल स्टडीज के एन. एस. बालाजी को अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …