Breaking News
Home / Uncategorized / मनोज तिवारी प्रकरण को विपक्ष बनाएगा मुद्दा

मनोज तिवारी प्रकरण को विपक्ष बनाएगा मुद्दा

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने एक शिक्षिका को अपमानित कर एक विवाद को जनम दे दिया है। यह मामला उस समय उजागर हुआ है जबकि दिल्ली में एमसीडी का चुनाव सिर पर है। भाजपा एमसीडी पर अपनी बादशाहत कायम रखने के लिये हर संभव प्रयास में जुटी है। वहीं मनोज तिवारी की यह हरकत काफी भारी पड़ सकती है। वैसे भाजपा ने दिल्ली एमसीडी को प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया है। चुनाव जीतने के लिये पार्टी किसी भी स्तर पर जा सकती है। लेकिन इस बार का एमसीडी चुनाव भाजपा के लिये आसान नहीं है। आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस बीजेपी के लिये परेशानियां खड़ी कर सकती हैं।

मनोज तिवारी प्रकरण पर दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया है कि ये हैं दिल्ली के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष हैं जो महिलाओं का सार्वजनिक से अपमान करने से नहीं चूके हें। ऐसा कर उन्होंने न केवल एक टीचर का अपमान किया है बल्कि महिला समाज का अपनमान किया है। बीजेपी के लिये यह बुरी खबर बन सकती है। मनोज तिवारी ने टीचर का अपमान करने के साथ उसके खिलाफ कार्रवाई करने की बात कह कर विपक्षियों को बैठे बिठाये मुद्दा दे दिया है।

राजनीति में आने से पहले मनोज तिवारी भोजपुरी फिल्मों के गायक और नायक हुआ करते थे। उनके सांसद बनने में उनकी गायकी और अभिनेता वाली छवि ने अहम् भूमिका निभायी थ। उसी मनोज तिवारी को गाने की फर्माइश करना इतना नागवार गुजरा कि स्टेज पर ही शिक्षिका का अपमानित कर दिया। भोजपुरी समाज में उनकी छवि एक भोजपुरी कलाकार की है न कि राजनेता की। इसका खामियाजा उन्हें एमसीडी चुनाव उठाना पड़ सकता है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

कमलनाथ को सोनिया गांधी सौंपने जा रही है बड़ी जिम्मेदारी

केंद्र की भाजपा सरकार के विजय रथ को रोकने के लिए विपक्षी गठबंधन के ताने-बाने …