Breaking News
Home / देश / मोदी सरकार ने दी हजारों हरे पेड़ काटने की मंजूरी
new project foe delhi

मोदी सरकार ने दी हजारों हरे पेड़ काटने की मंजूरी

नयी दिल्ली।  क्या आप दिल्ली के प्रदूषण को लेकर चिंतित हैं अगर हां तो यह खबर आपको और चिंता में डाल देगी। राजधानी दिल्ली के दक्षिणी इलाके से जल्द ही 16500 पेड़ों को काट डाला जाएगा क्योंकि केंद्र सरकार को इस जगह पर अपने अधिकारियों के लिए घर बनाने हैं। जिन इलाकों से पेड़ काटे जाएंगे उनमें सरोजनी नगर नेताजी नगर त्यागराज नजर मोहम्मदपुर कस्तूरबा नगर और श्रीनिवासपुरी शामिल हैं।

पर्यावरण प्रभाव आंकलन रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार के इस प्रोजेक्ट के लिए दक्षिण दिल्ली सरोजनी नगर में 11000 पेड़ काटे जाएंगे। इसी तरह नेताजी नगर में 3000 और 520 पेड़ कस्तूरबा नगर में काटे जाने हैं। ऐसा ही त्यागराज नगर में होगा जहां 108 पेड़ों को काटा जाना है। नौरोजी नगर में करीब 1500 पेड़ों को काटने काम शुरु भी हो चुका है। पर्यावरण एक्टिविस्ट प्रशांत के मुताबिक पूर्ण विकसित और हरे भरे पेड़ों को काटने से शहर पर बहुत खतरनाक असर पड़ेगा और इसकी भरपाई पौधे लगाने से नहीं हो सकती। इन पेड़ों को बचाने के लिए कई अभियान शुरु हुए हैं। दिल्ली के लोगों ने सेव डेल्ही ट्रीज़ नाम से फेसबुक पर भी कैंपेन शुरु किया है इस पर डेल्ही ट्री एसओएस का पेज है। इसी तरह एक मोबाइल नंबर पर मिस्ड काल देने का अभियान भी शुरु किया गया है।

अभियान से जुड़ी जूही सकलानी ने कहा कि इन पेड़ों को काटने से दिल्ली के ग्रीन कवर को भयंकर नुकसान होगा। वन विभाग कहता है कि हर पेड़ के बदले 10 पौधे दूसरी जगहों पर लगाए जाएंगे लेकिन इन पौधों की देखभाल का जिम्मा लेने वाला कोई नहीं है। साथ ही यह भी नहीं पता है कि ये पौधे लगाए कहां जाएंगे। जूही का कहना है कि वे इस बारे में विशेषज्ञों से बात कर रही हैं ताकि कानूनी कदम उठाए जा सकें। उन्हें पता होना चाहिए कि उनके साथ और उनके बच्चों के साथ क्या होने वाला है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

 

Check Also

babul suprio

केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने दिव्यांग से की बदसुलूकी, टांगें तोड़ने की दी धमकी

नयी दिल्ली। केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने एक बार फिर विवाद खड़ा कर दिया, जब …