Home / खेल / बूम-बूम अफरीदी का सफर, जिसे कहा अलविदा
afridi

बूम-बूम अफरीदी का सफर, जिसे कहा अलविदा

पाकिस्तानी ऑलराउंडर क्रिकेटर और बूम बूम से मशहूर पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने क्रिकेट की दुनिया को अलविदा कह दिया है और इसी के साथ उनका 21 साल का क्रिकेट का सफर समाप्त हो गया।  कभी-कभी विवादों में रहने वाले अफरीदी ने अपने कैरिअर की शुरुआत 1996  में की थी। शाहिद अफरीदी ने क्रिकेट की दुनिया में तब तहलका मचा दिया था, जब उन्होंने श्रीलंका के विरुद्ध एक मैच में 37 बॉल में शतक लगाया था और उनका ये रिकॉर्ड 17 साल तक कोई नही तोड़ पाया था।

इसे भी पढ़े : पाकिस्तानी खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संन्यास

शाहिद अफरीदी अपने करियर की शुरुआत के साथ अफरीदी एक अच्छे गेंदबाज और ऑलराउंडर के रूप में भी पहचाने जाने लगे। अफरीदी ने कुल 398 एकदिवसीय मैच खेले,  इनमें उन्होंने 8,064 रन बनाए। वनडे में अफरीदी का सबसे ज़्यादा स्कोर 124 रनों का है। अफरीदी से हुई बातचीत में उन्होंने कहा,  मैं अपने करियर में हर  तरह से क्रिकेट खेलना चाहता था और मैंने खेला भी, मगर अब मैं केवल विभिन्न लीगों में अपना ध्यान केंद्रित कर रहा हूं और खेल का लुत्फ उठाना चाहता हूं।

इसे भी पढ़े : भारतीय टीम के इस गेंदब़ाज के सामने खेलने में परेशानी होती थी

टी-20 क्रिकेट में पाकिस्तान टीम को सफलता दिलाने वाले अफरीदी ने बहुत अहम भूमिका निभाई,  वर्ष 2009 में पाक की जीत में उनका बहुत बड़ा योगदान रहा । 27 टेस्ट मैचों का अनुभव रखने वाले अफरीदी ने 1,176 रन बनाए हैं , 2016 में भारत में हुए टी20 वर्ल्ड चैंपियनशिप में अफरीदी पाकिस्तान टी-20 टीम के कप्तान थे मगर उसके बाद उन्हें टीम में जगह नहीं मिल पाई। टूर्नामेंट के बाद वे कप्तान पद से हट गए।  भारत प्रेम को लेकर अफरीदी काफी विवादों में रहे और उनका पाकिस्तान में बहुत विरोध हुआ,  पाकिस्तान ही नही भारत में भी शाहिद अफरीदी के बहुत फैन थे और उनकी आतिश बल्लेबाज़ी को देखने के लिए सब में उत्साह रहता था। शहीद अफरीदी को हमेशा क्रिकेट की दुनिया में याद रखा जायेगा और उनके लंबे सिक्सर अब शायद दर्शक नही देख पाएंगे।

काशिफ अली की रिपोर्ट

Next9News

Check Also

goel vijay2

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च पोर्टल का लोकार्पण 28 अगस्त को

नयी दिल्ली। खेल मंत्रालय के मंत्री विजय गोयल ने बताया कि देश के कोने कोने …