Home / देश / क्राइम / प्रद्युम्न हत्याकांडः अशोक का क्या कुसूर?
ryan-pti-story-647_090917023704_090917051955

प्रद्युम्न हत्याकांडः अशोक का क्या कुसूर?

नयी दिल्ली। आज से दो माह पहले 8 सितंबर को रेयान इंटरनेशनल स्कूल में मासूम प्रद्युम्न की गला रेत कर नृशंस हत्या कर दी गयी थी। इस दर्दनाक कांड की गूंज न केवल हरियाणा बल्कि पूरे देश में सुनाई दी। इसे मीडिया ने भी प्रमुखता से टीवी और समाचार पत्रों में प्रसारित किया। हरियाणा पुलिस पर भी इस केस के खुलासे का भारी राजनीतिक और सामाजिक दबाव था। दबाव के चलते पुलिस ने आनन फानन में स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार करते हुए हत्यारोपी बना डाला। सीबीआई ने अपनी जांच में स्कूल के ही ग्यारहवीं क्लास के एक छात्र को हिरासत में लेते हुए उससे पूछताछ शुरू कर दी है। सीबीआई के इस एक्शन से पुलिस की कार्रवाई पर सवालिया निशान लगा दिया।

वहीं दूसरी ओर बस कंडक्टर अशोक की बेगुनाही पर मुहर लगा दी। अशोक के जेल जाने से उसके परिवार को आर्थिक और सामाजिक परेशानियों को झेलना पड़ा। प्रद्युम्न के परिजनों को पहले ही स्थानीय पुलिस की कार्रवाई पर भरोसा नहीं था। उन्हें लगता था कि पुलिस और सरकार स्कूल प्रबंधन को बचाने की कोशिश कर रही है।इतना ही नहीं घरवालों की बातों को दर किनार करते हुए पुलिस ने अशोक पर दबाव डालते हुए उससे जुर्म कुबूल कराया। लेकिन प्रद्युम्न के घर वालों को पुलिस की कार्रवाई पर जरा भी भरोसा नहीं हुआ। उन्होंने दिल्ली आ कर सुप्रीमकोर्ट में फरियाद लगाई कि मामले की जांच सीबीआई से करायी जाये। सुप्रीम कोर्ट ने परिजनों को को मानते हुए सरकार को यह आदेश दिया कि सीबीआई इस मामले की तह तक जाये और मामले की गहरी छानबीन करे। दोषी को हर हाल में सजा दिलाई जाये।

22 सितंबर को केन्द्र की सिफारिश पर सीबीआई तुरंत एक्शन में और मामले की गहरायी से छानबीन करते हुए सभी पहलुओं पर पैनी निगाह पर रखी। रेयान इंटरनेशनल में प्रद्युम्न की हत्या को लेकर सीबीआई ने नया खुलासे का दावा किया है। टीम ने 11वीं क्लास के एक छात्र को हिरासत में लेते हुए स्थानीय पुलिस के कार्यप्रणाली पर सवालिया ने निशान लगा दिया। गुरुग्राम पुलिस ने बच्चे की हत्या करने के आरोप स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार किया था। शायद पुलिस पर दबाव डाला गया था कि इस मामले में कुछ कर के दिखायें। हरियाणा सरकार के अनेक मंत्रियों के स्कूल के मालिकान के गहरे संबंध हैं।

सीबीआई ने अपनी छानबीन में 11वीं क्लास के छात्र को हत्यारोपी पाया। उसे घर से 7 नवंबर की रात में गिरफ्तार कर लिया। जांच एजेंसी का मानना है कि छात्र पढ़ाई में काफी कमजोर था। साथ ही आने वाले एग्जाम को लेकर मानसिक रूप से भी परेशान रहता था। उसका इलाज एक मानसिक विशेषज्ञ भी कर रहा है। यह बात भी सामने आई कि छात्र स्कूल में चाकू लेकर आ चुका है इस बात की पुष्टि कुछ बच्चों और टीचरों ने भी की है। सीबीआई ने एक बात यह भी कही कि पीटीएम व एग्जाम की डेट को लेकर उसने प्रद्युम्न की हत्या को अंजाम दिया। लेकिन यह बात गले से नहीं उतर रही है कि कक्षा 2 के प्रद्युम्न से पीटीएम और एग्जाम की डेट्स से क्या कनेक्शन है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

shashi

मेरे पास मां है कहने वाली आवाज हुई खामोश

नयी दिल्ली। भारतीय और विदेशी फिल्मों में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके बलबीर राज …