Breaking News
Home / देश / सिमेंस और भारतीय जहाजरानी के बीच 766 करोड़ की हिस्सेदारी, 10,512 युवा होंगे ट्रेंड
IMG_20180608_100327

सिमेंस और भारतीय जहाजरानी के बीच 766 करोड़ की हिस्सेदारी, 10,512 युवा होंगे ट्रेंड

नयी दिल्ली। भारतीय जहाजरानी और ग्रामीण विकास मंत्रालय के संयुक्त तत्वावधान में एकदिवसीय कार्यशाला स्किल डेवलपमंेट इन पोर्ट एण्ड मैरीटाइम सेक्टर का आयोजन देश की राजधानी दिल्ली में किया गया। इस कार्यशाला में देश विदेश के विशेषज्ञ, कंपनियों के प्रतिनिधि व इंस्टीट्यूट्स के मालिकान ने हिस्सा लिया। इस मौके पर भारतीय जहाजरानी के उत्कृष्ट व साहसिक कहानियों के संग्रह सागरमाला का विमोचन मौजूद विशिष्ट अतिथियों के हाथों से किया गया। इस मौके पर भारतीय जहाजरानी मंत्रालय ने भारत के 21 कोस्टल जिलों पर आधारित कौशल अज्ञानता पर एक रिपोर्ट भी जारी की।

इस कार्यशाला के आयोजन का लक्ष्य रोजगारदाता, टेनिंग पाटनर्स और सरकारी संस्थाओं के आलाधिकारियों को एक जगह लाना था। ऐसा करने में वर्कशाप काफी सफल रही भारी संख्या लोगों ने कार्यशाला में हिस्सेदारी की। शिपिंग मिनिस्टरी ने समुद्र के किनारे बसे आंध्रा, हैदराबाद, तेलंगाना, मुंबई, पुडुचेरी, अंडमान निकोबार द्वीप, ओडिशा, कर्नाटक, वेस्ट बंगाल, गुजरात, तमिलनाडु, केरल, 3 यूनियन टैरिटरीज और लक्ष्यद्वीप में गैप स्किल पर रिपोर्ट भी जारी की। इन जिलों में सकारात्मक कार्य तेजी से प्रगति पर है। सागरमाला डीडीयू जीकेवाई प्रतिवर्ष प्रत्येक जिले से 500 स्टूडेंट्स को आगामी तीन सालों टेनिंग देने जा रही है। देश की दूसरी प्रदेश सरकारें भी इस के प्रकार के प्रशिक्षण दिलचस्पी दिखा रही हैं। आंध्र प्रदेश व पश्चिम बंगाल के लिये केन्द्र सरकार के मंत्रालयों से प्रोजेक्ट को हरी झण्डी दे दी गयी है।
कार्यशाला शुरू होने के पहले सागरमाला के निदेशक देवेंद्र राय ने वहां मौजूद रूरल डेवलपमेंट और शिपिंग मंत्रालयों के सचिवों गोपाल कृष्ण, अनंत कुमार कैलाश अग्रवालऔर अंडमान निकोबार के सांसद बिश्नुपद राॅय का स्वागत किया।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Rahu and Raj

मोदी मुक्त भारत बनाने के लिये राज ठाकरे और कांग्रेस में पक रही है खिचड़ी

नयी दिल्ली। आगामी आम चुनाव में मोदी मुक्त भारत बनाने के लिये कांग्रेस और महाराष्ट्र …