Breaking News
Home / Tag Archives: think writer think (page 10)

Tag Archives: think writer think

इरोम शर्मिला का बलिदान क्या कहता है

irom-sharmila

महज 28 साल की उम्र जिस उम्र में लड़कियॉ अपने सपने सहेजती है….अपने आने वाले कल के बारे में सोचती हैं….उस उम्र में मणिपुर की एक महिला इरोम शर्मिला ने 16 सालों तक अनशन किया और तपस्वी बन गई। किस के लिए बस और बस आम लोगों के लिए। 16 …

Read More »

यूपी को मोदी का साथ पसंद है

shah-modi

देश में पांच प्रदेशों के चुनाव परिणाम आने को ही है, लेकिन रुझानों को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि यूपी को मोदी का साथ पसंद है। प्रदेशवासियों ने अखिलेश के काम को वरीयता न देते हुए बीजेपी के कमल को सिर माथे लिया है। इस चुनाव परिणाम …

Read More »

Women’s day special, हां हम खास हैं!

womens day

आज सुबह उठने के साथ ही मुझे कुछ अलग सा अहसास हुआ और मैं ऑफिस जाने के लिए खूब सजी-संवरी क्योंकि आज महिला दिवस है। जब घर से निकल कर ऑटो लेने लगी तो एक पुरुष ने मुझे सीट दी तो लगा कि मैं कुछ खास हों और हूं भी …

Read More »

यूपी चुनाव 2017-11 मार्च कतल की रात

up election 2017

यूपी में आम चुनावों के सात चरण लगभग समाप्त हो चुके हैं। आठ को आखिरी चरण के मतदान होने हैं। इस मतदान के बाद सभी दलों को 11 मार्च को आने वाले परिणामों का इंतजार रहेगा। सभी उम्मीदवारों के लिये 11 मार्च कत्ल की रात साबित हो सकती है। ये …

Read More »

क्रिकेट के भगवान को कब लगा कि मैं थक रहा हूं

sachin-tendulkar

क्रिकेट को अपने जीवन के 24 साल देने वाले क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का नाम एक बार फिर ट्रेंड में है और इसका कारण है। सचिन का दिल छू लेने वाला व पोस्ट जिसमें उन्होंने अपने जीवन कि दूसरी पारी के बारे में लिखा। गौरतलब है कि सचिन हाल …

Read More »

बीजेपी को रोक सकेंगी क्षेत्रीय पार्टियां!

political-party-symbols

पिछले तीन दशकों का इतिहास खंगालें तो पता चलता है कि देश में राजनीतिक दृश्य में काफी बदलाव आ चुका है। इन तीन दशकों में क्षेत्रीय दलों का प्रभाव बढ़ता ही जा रहा हैं। ये दल राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टियों की राह में रोड़ा बनते जा रहे हैं। अगर दक्षिण भारत …

Read More »

यूपी चुनाव: श्मशान-कब्रिस्तान की बात सब कर रहे, जापानी बुखार की कोई नहीं

narendra-modi-akhilesh-yadav-rahul-gandhi_

उत्तर प्रदेश में छठे चरण में पूर्वांचल के 9 जिलों की 49 सीटों पर मतदान होना है। चुनावी प्रचार भी अपनी चरमसीमा पर है। कोई गांव में कब्रिस्तान बनाने की बात कर रहा है तो कोई कहता है हर गांव में कब्रिस्तान बन सकता है तो, श्मशान क्यों नहीं। श्मशान …

Read More »

इंसानियत हूं मैं, पल-पल मर रही हूं….

ChwwBwcU4AAf15A

ऊपर लिखी पक्तियां न तो मैंने लिखी हैं न ही किसी प्रख्यात कवि ने। इन पंक्तियों को लिखा है वो हैं हमारे समाज की बदनाम गलियों में रहने वाली वेश्या । इनको समाज में कालगर्ल या धंधा करने वाली भी कहते हैं। ऐसी औरतों को लोग नफरत और बदनुमा दाग …

Read More »

एक वेश्या का खुला खत

kjfjh

वेश्या शब्द जैसे कानों में पड़ते ही लोगों के चेहरे पर मुस्कराहट रेंग जाती है। लोगों के दिमाग में सेक्स की अजीब सी इच्छा जाग्रत हो जाती है। यह सब इसलिये होता है क्योंकि उस महिला या लड़की बारे में कि वो एक सेक्सवर्कर है। सुनी सुनाई बातों पर एक …

Read More »

प्रेम का भोंडा प्रदर्शन क्यों!

lovers

आज भारत 21वीं सदी में प्रवेश कर रह है। मेट्रो सिटीज में लोग बाग मशीनी लाइफ जीने को मजबूर हो रहे हैं। ऐसे में जिंदगी से भावनाएं और प्यार खोता सा जा रहा है। रिश्तों की मिठास न जाने कहां खोती जा रही है। प्यार के लिये किसी के पास …

Read More »