Breaking News
Home / Tag Archives: think writer think (page 12)

Tag Archives: think writer think

नोटबंदी कालेधन का समाधान या फिर कालेधन पे सवाल

500-1000-notes

8 नवम्बर से पहले किसी ने सोचा नहीं था की उनके पास जो पैसा है वह आने वाले दिनों में उनकी परेशानी का सबब बनने वाला है, और काला धन को रखने वालों के यहां तो जैसे भूचाल आ गया। प्रधानमंत्री का यह फैसला काले धन को रोकने के लिए …

Read More »

कैशलेस सिस्टम एक समस्या या फिर हल?

paytm

कैशलैस में समस्या नही, समस्या कैशलैस के तरीके में है। जनता तो आज कैशलैस होने को तैयार है, समस्या तो साधनों की उपलब्धता की है। दिल्ली मैट्रो इसका बे-जोंड उदाहरण है, मैंट्रो की लाईन की दिक्कत से उबरने के लिए लोगों ने तुरंत मैट्रो कार्ड का विकल्प चुना। जबकि होना …

Read More »

विश्व भाषा का मिथक एवं लोकतंत्र

language

लोकतंत्र में शासन में जनता की सहभागिता तभी आ सकती है जब शासन व्यवस्था जन-भाषाओं में संचालित हो। इंग्लैड़ समेत सम्पूर्ण यूरोप में लोकतंत्र के विकास के साथ वहाँ की जनभाषाएं शासन प्रशासन और शिक्षा का हिस्सा बनी। यूरोप में भी जब आम जन ने प्रोटेस्टेंट मूवमेंट के द्वारा न …

Read More »

घुटन की दास्तां बहुत पुरानी हैं…

depression

कैसा होता है वो शख्स जिसके पास आप बीती सुनाने के लिए कोई न हो जो अंदर ही अंदर घुट रहा हो किसी न किसी बात को लेकर, कैसा होता होगा वो शख्स जो बहुत कुछ कहना चाहता हैं लेकिन किसी के न होने के डर से बातों को मन …

Read More »

शहादत देश के लिये…

salute-to-indian-army

देशभक्ति की राह में शहीदों की शहादत याद रखना, देश के लिये शहीद जवानों का सम्मान रखना, भारत मां की चाह में कुर्बानी दे दी याद रखना, देशभक्ति की राह में शहीदों की शहादत याद रखना। देशभक्ति में वीर जवानों का सम्मान याद रखना, खुशियों का दीप जलाकर क्रांतिकारी मान …

Read More »

लाचार मम्मा की उम्मीद…

mother-waiting-his-son

गोधुली बेला में चला गया, खेल खेलने टोली सूरज चाचा चले गये तो, लगा डराने टोली, चंदा मामा निकल गये फिर, लगा झूमने टोली ढूंढते-ढूंढते मम्मा पहुंची, बोले प्यार की बोली, गले लगाके मम्मा, देखन चाहे मुखड़ा चोरी मम्मा की ममता प्यार से, बोले प्य़ारी बोली, समझ ना आया क्यों …

Read More »

नादान इश्क़…

one-sided

लरजते लम्हों से दिल की बातें, कह ना सका नैनों का इशारा था, इजहार कर ना सका, उसकी आंखों की चाहत, दिल सह ना सका चाहत को रूसवाईयों के, डर से कह ना सका, चली गई तन्हाईयों में, जुदाई सह ना सका लरजते लम्हों से दिल की बातें, कह ना …

Read More »

मां की ममता का कर्ज़…

mother

मां तू ममता की धनी, मैं कंगला रह गया बचपन में सुना लोरी सोचा सुनाऊं भजन चोरी पड़ी पैनी नज़र उसकी… कड़वा वचन बोल चला गया तेरा दूध पीकर भी, मैं चंडाल बन गया तरसे तू रोटी के खातिर खिलाने निकला तुझे रोटी पड़ी पैनी नज़र उसकी… कुतिया को डाल …

Read More »

अंधकार में संस्कार…

man-alone

डूब जाएगा अंधकार में संस्कार एक दिन, पहचान के लिये तड़पोगे जनाब एक दिन, बिन पहचान हो जाओगे नाकाम एक दिन, अंधकार में डूब जाएगा सम्मान एक दिन, जमीर भी तो मांगेगा हिसाब एक दिन, छुप-छुप के मांगोगे अधिकार एक दिन, डूब जाएगी अंधकार में आवाम एक दिन, पहचान के …

Read More »

दो टुक, प्यार में…

ways-to-love

  दो टुक कह सका प्यार में कहने को तो बहुत कुछ था, एहसास का समंदर दिल में बहने को तो बहुत कुछ था, दिल की बात छुपा चेहरों से दिखने को तो बहुत कुछ था, दिल की बातें दिल की जुबां से  दो टुक में तो बहुत कुछ था, …

Read More »