Breaking News
Home / देश / चुनाव स्पेशल / बिहार सुशील मोदी पर तेजस्वी यादव ने साधा निशाना, पूछे ये सात सवाल…..
tejaswi yadav

बिहार सुशील मोदी पर तेजस्वी यादव ने साधा निशाना, पूछे ये सात सवाल…..

नई दिल्ली: बिहार की राजनीति में एक बार फिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी हो गया है। इस बार सूबे के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी पर निशाना साधते हुए कहा की खुद साधु होने और नैतिकता, ईमानदारी का ढोल पिटते है और अपने ही घर में हुए भ्रष्टाचार पर एक शब्द नहीं बोलते हैं। इसी को लेकर तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी से फेसबुक पर एक पोस्ट डालकर सात सवाल पूछे हैं।

तेजस्वी यादव ने पोस्ट डालते हुए लिखा की अब तक सुशील मोदी की कारगुज़ारियों पर राजद ने जितने भी गंभीर आरोप लगाए हैं, उसपर मोदी जी कुंभकर्णी नींद में सोए हुए हैं। जानबूझकर कर इधर उधर की हाँकते रहते हैं, पर खुद पर लगे आरोपों पर अज्ञानता की मोटी चादर तान कर सोए रहते हैं। खुद साधु होने का ढोंग रचकर नैतिकता और ईमानदारी का ढोल पीटते हैं, पर अपने घर में ही व्याप्त भ्रष्टाचार पर एक शब्द नहीं बोलते हैं और ना ही कोई स्पष्टीकरण देते है। अगर इनकी ही पार्टी के तीन-तीन स्पष्टवादी सांसद इनसे तथ्यों के आधार पर बात करने की सलाह देते है तो ये महाशय उन सांसदों को ही पार्टी से बाहर करने की वकालत करते है। बहरहाल सुशील मोदी मेरे इन सवालों का जवाब दें अन्यथा निम्नस्तर की नकारात्मक राजनीति से सन्यास लेकर बीजेपी में मेहनती लोगों को आगे बढ़ने का मौक़ा दें।

1- सुशील मोदी यह बताएँ कि आर.के.मोदी उनके सगे भाई हैं कि नहीं? सुशील मोदी ज़रा बिहार की जनता को यह तो स्पष्ट करें कि कैसे इतने कम समय में मोदी परिवार ने हज़ारों-हज़ार करोड़ की सम्पत्ति अर्जित कर ली?

2- ललित छाछवरिया जैसे मनी लॉन्ड्रिंग के बेताज बादशाहों का उनके भाई की कम्पनी से क्या लेना देना है? आर.के.मोदी के ललित छाछवरिया से व्यावसायिक सम्बन्ध हैं कि नहीं?

3- इनके भाई की कम्पनी में जिस तरह 400-400 करोड़ की बेनामी एंट्री घुमाई गईं हैं, मनी लॉन्ड्रिंग की गई है, मनी लेयरिंग की गईं हैं। क्यों नहीं सुशील मोदी प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहते हैं कि मैं तो ईमानदारी का देवता हूँ, पर मेरे ही परिवार की अनेकों रियल इस्टेट कंपनियों और तो और मेरे ही सगे भाई की कम्पनियां मसलन आशियाना होम्स प्रा० लि०, आशियाना लैंड्सक्राफ़्ट प्रा० लि० समेत अनेकों कंपनियों में की गयी अब तक की बेमानी कारगुज़ारियों के ख़िलाफ़ हूँ। मेरे भाई की कंपनियों के बेमानी लेनदेन की भी जाँच हो, भले ही मैं आपकी ही पार्टी का ही क्यों ना होऊं?

4- क्यों नहीं सुशील मोदी ED और अन्य एजेंसियों को लिखते कि उनके भाई की सभी कम्पनियों में धन के अर्जन, आवाजाही और स्रोतों तथा आर्थिक अनियमितताओं की पूरी ईमानदारी और निष्पक्षता से जाँच की जाए?

5- जिस प्रकार राजद ने प्रेस कॉन्फ़्रेन्स के ज़रिए वीडियो में साफ़-साफ़ दिखाया कि सुशील मोदी के भाई आर.के.मोदी की कम्पनी के प्रोजेक्ट आशियाना मलबेरी, गुड़गाँव के सेल्स मैनेजर अंकित मोदी ने स्पष्ट रूप से उक्त कंपनी को सुशील मोदी से जुड़ा बताया। क्यों नहीं सुशील मोदी अपने भाई पर मानहानि का केस दर्ज कराते?

6- जिस प्रकार उनके भाई की कंपनी का सेल्स मैनेजर अंकित मोदी साफ साफ ग्राहक को विश्वास दिलाने के लिए सुशील मोदी का नाम लेकर सता का दंभ भर रहा है। क्या यह सच नहीं है कि गुडगांव और बाकि जगह के सारे फ्लैट सुशील मोदी के नाम पर ही बेचे जा रहे हैं? क्या सुशील मोदी ने अब तक इस बात का खंडन किया? क्या खंडन नहीं करने का स्पष्ट मतलब नहीं है कि इनके भाई की कम्पनी में बेमानी निवेश किया गया है?

7- दूसरों के पंजीकरण किए हुए, कानूनी, वैध, हर प्रक्रिया की कसौटी पर कसे, जन सामान्य के लिए उपलब्ध सम्पत्ति की जानकारी को घोटाला बनाकर पेश करने वाले सनसनी के स्वामी मोदी हमारे आरोपों पर स्पष्टीकरण देने की हिम्मत क्यों नहीं जुटाते? अपने ऊपर लगे आरोपों का जवाब देने के वक़्त उनकी ज़ुबान बंद क्यों हो जाती है?

Next9News

Check Also

traders strike

जीएसटी के विरोध में कपड़ा व्यापारियों की तीन दिवसीय हड़ताल शुरू

नयी दिल्ली। केन्द्र सरकार देश में जीएसटी लागू करने की कवायद में जुटी है वहीं …