Breaking News
Home / देश / बिहार के वैज्ञानिक का बनाया तेजस, एयरफोर्स में शामिल
tejs

बिहार के वैज्ञानिक का बनाया तेजस, एयरफोर्स में शामिल

बिहारी की सरज़मीं ने देश को तमाम बार सिर ऊंचा करके गौरवांवित होने का मौका दिया है। और अब एक बार फिर बिहार के लाल और मशहूर वैज्ञानिक डा. मानस बिहारी वर्मा ने ऐसा कुछ कर दिया है जिस पर सिर्फ बिहार के लोग ही नहीं बल्कि देशभर के लोगों को गर्व होगा। दरअसल बिहार के वैज्ञानिक डा. मानस बिहारी वर्मा के नेतृत्व में बनाया गया देश में निर्मित लड़ाकू विमान तेजस वायु सेना में शामिल कर लिया गया है। बताते चले कि तेजस लड़ाकू विमान का निर्माण दरभंगा के घनश्यामपुर प्रखंड के बाउर गांव निवासी प्रसिद्ध वैज्ञानिक डा. मानस बिहारी वर्मा की ही देखरेख में हुआ है।

कल जब विधिवत तरीके से इस विमान को एयर फोर्स में शामिल किया गया तो एक बार फिर बिहार का सिर गर्व से उंचा हो गया। जानकारी देते चलें कि भारत के राष्ट्रपति रह चुके दिवंगत डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के साथ काम कर चुके डा. मानस बिहारी वर्मा उनके अच्छे मित्रों में से एक थे। यही नहीं डॉ एपीजे अब्दुल कलाम अपने बिहार दौरे के दौरान कई बार उनसे मिलने भी आये थे। आईये अब आपको लड़ाकू विमान तेजस की खूबियों के बारे में बताते हैं।

लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट प्रोग्राम को मैनेज करने के लिए 1984 में एलडीए बनाई और उसके बाद एलसीए ने पहली उड़ान 4 जनवरी 2001 को भरी थी। अब तक यह कुल 3184 बार उड़ान भर चुका है। वहीं तेजस 50 हजार फीट की ऊंचाई तक उड़ान भर सकने में सक्षम है। तेजस के विंग्स 8.20 मीटर चौड़े हैं और इसकी लंबाई 13.20 मीटर और ऊंचाई 4.40 मीटर है। अगर तेजस के वजन की बात करें तो यह 6560 किलोग्राम का है। इसके साथ ही देश में बना पहला लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट है तेजस। वैसे सिर्फ 2 प्लेन के साथ एयरफोर्स इसे अपने बेड़े में शामिल कर चुकी है। और इसका सफलतापूर्वक टेस्ट भी किया जा चुका है। एयर मार्शल जसबीर वालिया और हिंदुस्तान एयरोनॉटिकल लिमिटेड के ऑफिसर्स की देख-रेख में यह टेस्ट किया गया था। फिलहाल तेजस की पहले स्क्वाड्रन को 2 साल तक बेंगलुरू में ही रखा जाएगा और उसके बाद तमिलनाडु के सलूर में इसे शिफ्ट कर दिया जाएगा।

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …