Home / देश / छात्रों के उग्र प्रदर्शनों सरकार घबरायी, नहीं होगा दसवीं का गणित का दोबारा पेपर
retake-cbse-paper

छात्रों के उग्र प्रदर्शनों सरकार घबरायी, नहीं होगा दसवीं का गणित का दोबारा पेपर

नयी दिल्ली। मार्च के अंतिम सप्ताह से सीबीएसई बोर्ड के छात्रों व उनके परिजनों की नींदें उड़ गयी थी। इसका कारण दसवीं का गणित और बारहवीं का इकोनाॅमिक्स का पेपर आउट होना था। जिस दिन से बोर्ड ने यह नोटिस जारी किया था कि गणित की परीक्षा दोबारा होगी उसी दिन से छात्रों ंमें रोष हो गया था। पूरे देश में छात्र उग्र प्रदर्शन करने लगे।

राजनीतिक जगत में भी बोर्ड परीक्षा के पेपर आउट होने का मुद्दा बना लिया गया था। सरकार और बोर्ड इस बात पर जोर दे रहा था कि दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा। लेकिन इस बात पर भी दृढ़ थी कि बोर्ड परीक्षाएं फिर करायी जायेंगी। शिक्षा सचिव ने 30 मार्च को एक नोटिस जारी करके यह ऐलान किया था कि अर्थशास्त्र की परीक्षा 25 अप्रैल को होगी। दसवीं की परीक्षा जुलाई में कराने की बात भी कहीं गयी। लेकिन संपूर्ण देश में छात्र उग्र प्रर्दशन कर रहे थे। आखिरकार सरकार और बोर्ड को छात्रों के प्रदर्शनों के आगे झुकना पड़ा और गणित का पेपर दोबारा न कराने का निर्णय करना पड़ा। लेकिन अर्थशास्त्र का पेपर दोबारा होगा इस बात पर अभी संशय बना हुआ है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

collage3

राधिका वेमुला ने पीयूष गोयल पर लगाया गलतबयानी का आरोप

नयी दिल्ली। राधिका वेमुला ने मोदी सरकार में वित्त मंत्री पीयूष गोयल के आरोप को …