Breaking News
Home / खुला खत / दिल में दर्द था फिर भी चेहरा हंसता दिखाई दिया
sad-breakup

दिल में दर्द था फिर भी चेहरा हंसता दिखाई दिया

आईना आज फिर रिश्वत लेते पकड़ा गया,
दिल में दर्द था फिर भी चेहरा हंसता दिखाई दिया।

हंस कर कुबूल क्या कर ली सजा मैंने,
आपने तो दस्तूर ही बना लिया हर इल्जाम मुझ पर लगाने का।

हाथ मेरे भूल बैठे हैं दस्तकें देने का फन,
बंद मुझ पर जब से उसके दिल का दरवाजा हुआ।

न तेरी अदा समझ में आती है ना आदत ऐ जिंदगी!
तू हर रोज नयी सी हम हर रोज वही उलझे से।

….. दीपिका टंडन

MYXJ_20180102093252_fast (1)

Check Also

collage

क्या महागठबंधन अश्वमेघ यज्ञ का घोड़ा रोक सकेगा

पिछले आम चुनाव से पहले एनडीए के पीएम उम्मीदवार मोदी ने जनता के बीच घूम …