Home / टेली मसाला / तिरुपति मंदिर में बाल मुंडवाने के बाद बालों का होता ये हाल
trupati

तिरुपति मंदिर में बाल मुंडवाने के बाद बालों का होता ये हाल

हिंदुस्तान एक देश है जहां पर धर्म भक्ति आध्यात्म का भाव सबसे ज्यादा देखा जाता है। यूं तो देश में हर धर्म के लोगो की अपने अपने धर्म में आस्था है,  हर धर्म से जुड़ी अपनी मान्यताएं और पवित्र स्थल है।

लेकिन अगर बात करें हिंदु धर्म की तो, ये धर्म अपने आपमे बहुत अलग है। हिंदु धर्म में 33 करोड़ देवी देवता है जिनके बारे में अलग अलग कहानियां और अलग अलग धारणाये है। इन देवी देवताओ के नाम पर कई मंदिर है। इन्ही देवी देवताओ में अगर बात करें भगवान संकटमोचन हनुमान जी की तो इनके नाम पर कई मंदिर है। इन्ही में से एर मंदिर है तिरुपति बाला जी मंदिर।

आपको बता दे कि दक्षिण में स्थित तिरुपति और तिरुमाला जैसे मंदिरों में पुरुष, बच्चों सहित महिलाएं  तक मनोकामना पूरी होने पर सर मुंडवाती है। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से भगवान खुश हो जाते है। मगर आपने कभी सोचा है  जो बाल मुंडवाए जाते है उनका क्या होता है।

तो आपको बता दे कि इन बालों का बहुत बड़ा बाजार है। जिन बालो को हम कचरा समझ कर फेंक देते है या वहीँ मंदिर में छोड़ देते है वहीं बाल अंतर्राष्‍ट्रीय बाजार में करोड़ रुपए में बिकते है।

खबरो की मानें तो ब्यूटी और कॉस्‍मेटिक इंडस्ट्री में इन बालो की बहुत मांग होती है। इस बारे में एक अनुमान है कि अकेले तिरुमाला तिरु‍पति मंदिर से हर साल करीब 250 करोड़ रुपए में बालों की ब्रि‍की होती है । मगर इन बालो को इसी तरह प्रयोग नहीं किया जाता है।इन्हें इस्तेमाल करने के लिए इन बालो को कई प्रोसेस से गुजरना पड़ता है।

पहले इन बालो का हाथों से सुलझाया जाता है, इसके बाद बालों की छटनी होती है। फिर बालो की क्वालिटी, लम्बाई, रंग, उम्र आदि के आधार पर इन बालों को एक दुसरे से अलग किया जाता है | फिर इन्हें एंटीऑक्सीडेंट तरल में भिगोकर इनमे पैदा होने वाले कीटाणु को नष्ट करा जाता है इसके बाद इन बालो का बांटने के लिए पैक किया जाता है।

Check Also

shakti

SHAKTI: सौम्या की बिगड़ी हालत, इस तरह होगी मृत्यु

कलर्स चैनल पर टेलिकास्ट होने वाले सीरियल शक्ति अस्तित्व के एहसास  की में सौम्या और …