Breaking News
Home / Blog / शून्यता का सच
zeero

शून्यता का सच

वो था इक सफर जिसमे तुम नहीं थे,

वो था इक सफर जिसमे शब्द नहीं थे।

वो था इक सफर जिसमे शून्यता ही थी,

वो था इक सफर जिसमंे न ही थी पाने की इछा।

वो था इक सफर जिसमें ना था कुछ खोने का डर,

वो था इक सफर जिसमें सिर्फ आज था।

वो था इक सफर जिसमें कल का कोई अंदाजा नहीं था,

वो था इक सफर जिसमें सोचने की क्षमता नहीं थी।

वो था इक सफर जिसमें चारों तरफ अपने ही थे,

फिर भी चारो तरफ शून्यता ही थी।

क्यूंकि वो था इक सफर जिसमें तुम नहीं थे।
– पुण्य प्रभा

Check Also

smog

दिल्ली की हवा में ज़हर इस कदर घुला है जैसे देश में जाति का ज़हर…

जिस देश में प्रदूषण से हर मिनट 5 मौत होती हों, जिस देश में प्रति …