Breaking News
Home / देश / नोटबंदी के चलते इलाज में देरी, दो की मौत

नोटबंदी के चलते इलाज में देरी, दो की मौत

मुरादाबाद: सरकार द्वारा लिए गए नोटबंदी फैसले के बाद देश के कई हिस्सों से ऐसे दर्दनाक पहलु सामने आए हैं। जो सरकार के इस फैसले पर सवाल खड़ा कर रहे हैं कि, सरकार ने जरूरी कार्रवाई क्यों नही की? बता दे कि उत्तर प्रदेश के दो स्थानों पर इलाज की देरी के चलते दो बच्चों ने जान गवा दी।

इसे भी पढ़े : 500-1000 के नोट बैन के बाद कांग्रेस का पीएम मोदी पर प्रहार

परिवार का आरोप हैं कि अस्पताल वालों ने 500 और 1000 के नोट नहीं लिए जिसके बाद इलाज में देरी हो गई औऱ हमने अपने बच्चों को खो दिया। बच्चे के खोने के बाद परिवारजन मोदी सरकार द्वारा लिए गए फैसले को कोस रहे हैं और अस्पताल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की बाते भी कही।

वही दूसरी ओर मैनपुरी में हुए बच्चे की मौत के बाद परिवारजनों का आरोप हैं कि खुल्ले नोट न होने की वजह से उनके बच्चे की मौत हो गई। जिसके बाद दुखी परिवार ने मैनपुरी के एक डॉक्टर पर आरोप लगाया हैं। तो वहीं प्रशासन अब कार्रवाई करने की बात कर रहा हैं।

इसे भी पढ़े : 500 और 1000 के नोट बंद, आपातकाल की स्थिति पैदा होने के आसार

मोदी सरकार द्वारा लिए गए फैसले के मुताबिक सरकारी अस्पतालों में तो पुराने नोट मान्य किए गए हैं लेकिन सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों में ऐसा नहीं किया। यही वजह हैं कि सरकार के फैसले के चलते परिवारजनो ने अपने-अपने बच्चों को खो दिया।

Next9News

Check Also

पंजाब में कांग्रेस के अभी भी असली सरदार है मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब कांग्रेस का एक वर्ग कैप्टन अमरिंदर सिंह को चूका हुआ मान रहा है। इनकी …