Home / देश / यूपी नगर निकाय चुनावः बीजेपी के पैरों से जमीन खिसकी
amit-shah-and modi

यूपी नगर निकाय चुनावः बीजेपी के पैरों से जमीन खिसकी

नयी दिल्ली। हाल ही में हुए यूपी के नगर व निकाय चुनाव में बीजेपी ने 16 में 14 मेयर पदों पर जीत क्या हासिल की प्रदेश के सीएम से लेकर पार्टी के दिग्गज नेता तो हवा में उड़ने लगे। यहां तक कि पीएम मोदी ने इस जीत को केन्द्र की नीतियों और प्रदेश सरकार की कार्य प्रणाली की सफलता करार दे दिया। बल्कि चुनाव परिणामों का विश्लेषण किया जाये तो प्रदेश में बीजेपी की बुरी तरह हार हुई है। लेकिन मीडिया ने इस वास्तविकता से आंखें बंद करते हुए केन्द्र व प्रदेश सरकार की महिमा मंडन करते हुए सच को छुपाने की गंदी हरकत की है। यूपी निकाय चुनाव में बीजेपी के 45 फीसद प्रत्याशियों की जमानतें जब्त हुई हैं। भाजपा की कुल 30.8 प्रतिशत सीटों पर ही जीत हुई है।

उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव में भाजपा को भले ही बड़ी जीत मिली हो लेकिन सूबे में बहुत सी सीटें ऐसी रहीं जहां भाजपा के उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार यूपी में भाजपा के 3,656 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई जबकि पार्टी के 2,366 उम्मीदवार जीतने में कामयाब रहे। यहां हारी हुई सीटों की संख्या जीती हुई सीटों से ज्यादा है। भाजपा के हारे हुए 45 फीसदी उम्मीदवार तो ऐसे हैं जिनकी जमानत तक जब्त हो गई। ये संख्या दूसरी पार्टियों के उम्मीदवारों से ज्यादा है। वहीं चुनावों के विश्लेषण की बात करें तो पता चलता है कि पार्टी की सभी सीटों को मिलाकर उनकी जीत 30.8 फीसदी बैठती है। नगर पंचायत के चुनाव में तो भाजपा को महज 11.1 फीसदी वोट मिले हैं।

गौर करने वाली बात है कि भाजपा ने इन चुनावों में सबसे अधिक उम्मीदवार मैदान में उतारे थे। सूबे की 12,644 में से भाजपा ने 8,038 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए थे। इनमें करीब आधी सीटों पर भाजपा उम्मीदवार हार गए। हालांकि नगर पंचायत सदस्य चुनाव में भाजपा के 664 उम्मीदवार जीते हैं लेकिन हारने वाले उम्मीदवारों की संख्या भी 1,462 है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

electiric

स्मार्ट मोबिलिटी में जन सहयोगिता की अहमियत

नयी दिल्ली। 2030 तक भारत 37 प्रतिशत कार्बन दुष्प्रभाव को कम किया जा सकता है। …