Breaking News
Home / Uncategorized / कब सुलझेगी उत्तराखंड और यूपी के सीएम की पहेली

कब सुलझेगी उत्तराखंड और यूपी के सीएम की पहेली

नई दिल्ली : पांच प्रदेशों के आम चुनावों के रिजल्ट आ चुके हैं। इन चुनावों में बीजेपी ने चार प्रदेशों में सत्ता पर कब्जा कर लिया है। गोवा और मणिपुर में बीजेपी ने तिकड़म से अपना मुख्यमंत्री भी बना लिया है। लेकिन यूपी और उत्तराखंड में प्रचंड बहुमत मिलने के बावजूद बीजेपी अपनी सरकार नहीं बना सकी है।

यहां तक कि इन प्रदेशो में मुख्यमंत्रियों के नाम पर आज भी चर्चा की जा रही है। अफवाहों का बाजार गर्म है। लेकिन भाजपा ने मुख्यमंत्रियों के नाम पर केवल कयास लगाये जा रहे हैं। यूपी में बीजेपी ने इतिहास रचते हुए अभूतपूर्व प्रदर्शन किया है। परिणाम आने के एक लगभग सप्ताह बाद भी प्रदेश में भाजपा ने अपनी सरकार बनाने का प्रयास नहीं किया है। प्रदेश में किसके हाथों में होगी कमान अभी इस बात पर पार्टी मंथन कर रही है। वैसे राजनाथ, मनोज सिन्हा, केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा, योगी आदित्यनाथ और विधायक सुरेश खन्ना के नाम चर्चा में हैं।

मनोज सिन्हा और राजनाथ सिंह का नाम सीएम की रेस में सबसे आगे चल रहा है। लेकिन पार्टी नेतृत्व ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं। एक बात दिलचस्प है कि उपरोक्त में से किसी ने भी अपनी दावेदारी को स्वीकार नहीं किया है।
ऐसा ही कुछ हाल उत्तराखंड का है। यहां भी भाजपा ने 57 सीटें जीत कर कांग्रेस की कमर तोड़ दी है। लेकिन भाजपा नेतृत्व अभी भी यहां के मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा नहीं कर सका है।

जहां प्रदेश की बागडोर संभालने को बेताब बीजेपी नेताओं की लंबी सूची है। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए विजय बहुगुणा, हरक सिंह रावत, पूर्व केन्द्रीय मंत्री सतपाल महाराज, त्रिवेंद्र सिंह रावत आदि सीएम बनने की उम्मीद कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यिरी, मेजर जनरल बीसी खंडूरी, रमेश निशंक पोखरियाल आदि का नाम भी मुख्यमंत्री की रेस में आगे माना जा रहा है। लेकिन बीजेपी अध्यक्ष की गुड लिस्ट में प्रकाश पंत और त्रिवेंद्र सिंह रावत सबसे ऊपर हैं। लेकिन जब तक उनके नाम पर अमित शाह की मुहर नहीं लगती तब तक सिर्फ कयास ही लगाये जा सकते हैं।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

कमलनाथ को सोनिया गांधी सौंपने जा रही है बड़ी जिम्मेदारी

केंद्र की भाजपा सरकार के विजय रथ को रोकने के लिए विपक्षी गठबंधन के ताने-बाने …