Breaking News
Home / गीत-गज़ल / ….लोग जहर में डूबे किरदार क्यों हैं
Sad-Shayari

….लोग जहर में डूबे किरदार क्यों हैं

इतने बेताब इतने बेकरार क्यूं हैं,
लोग जरूरत से ज्यादा होशियार क्यों हैं।
सामने तो सभी दोस्त हैं लेकिन,
पीठ पीछे दुश्मन हजार क्यों हैं।
हर चेहरे पर एक मुखौटा है यारांे!
लोग जहर में डूबे किरदार क्यों हैं।
सब काट रहे हैं इक दूजे को,
लोग सभी यहां दुधारी तलवार क्यों हैं।
सबको सभी की खबर चाहिये,
लोग चलते फिरते अखबार क्यों हैं।
... दीपिका टंडन

Next9news

Check Also

sad song

….जब तक खुली आंख रहे तब तक याद आते हो

जब चांद आसमां से ताकता है याद आते हो, जब तक खुली आंख रहे तब …