Breaking News
Home / देश / चुनाव स्पेशल / मोदी यूपी के सीएम क्यों नहीं  बन जाते
modi-kannauj

मोदी यूपी के सीएम क्यों नहीं  बन जाते

नयी दिल्ली। वाराणसी में मोदी ने लगातार तीन दिनों तक रोड शो, रैलियां व जनसभाएं करने की काफी कोशिशें की। यह बात दीगर है कि वो भीड़ को मतों में बदलने में कितना सफल हो पाते हैं। आखिरी चरण के मतदान भी बुधवार को 40 सटों के लिये संपन्न हो गये हैं। पिछले दो माह से पीएम नरेंद्र मोदी यूपी में डेरा जमाये हुए हें। इतना ही नहीं केन्द्र के डेढ़ दर्जन से अधिक मिंत्रयों बनारस की गलियों की धूल फांकी हैं। ऐसे में विरोधियों का पीएम मोदी पर तंज कसना लाजिमी है।

यूपी के सीएम अखिलेश ने तो जनसभा में बोल ही दिया कि मोदी जी को यूपी अगर इतना पसंद है तो क्यों नहीं गद्दी बदल लेते हैं। वैसे अखिलेश यादव ने यह बात मजाक में बोली थी। लेकिन बीजेपी और पीएम को यह सोचना चाहिये कि यूपी में आम चुनाव के दौरान प्रचार में कहीं अति तो नहीं कर दी।यह बात तो विपक्षियों की रही। अब बात बीजेपी के सांसद और मंत्री की। उन्होंने भी पीएम मोदी के वाराणसी चुनाव में ज्यादा दिलचस्पी लेने पर ऐतराज जताया है।

पटना से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने तो यहां तक कह दिया कि वाराणसी इतना अहम् हो गया कि पीएम को अपने संसदीय क्षेत्र में तीन दिन तक रोड शो, रैलियां और जनसभाएं करनी पड़ी। अगर ऐसा था तो उनके डेढ़ दर्जन मंत्री वहां क्या दही जलेबी खाने गये थे। मोदी देश के पीएम होने के साथ पार्टी के सबसे बड़े स्टार प्रचारक है।  केन्द्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाह ने भी कुछ ऐसा बयान दे दिया। कुशवाह मानते है कि मोदी देश के पीएम हैं न कि भाजपा के। अपने संसदीय क्षेत्र में तीन दिन तक प्रचार करना उनके जैसे नेता के लिये उचित नहीं लगता है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …