Breaking News
Home / देश / क्यों बिहार के दो परिजनों ने शवों को लेने से किया इनकार
family of dead person1

क्यों बिहार के दो परिजनों ने शवों को लेने से किया इनकार

नयी दिल्ली। बिहार की राजधानी पटना में दो परिजनों ने अपने रिश्तेदारों के शव लेने से इनकार कर दिया। उनकी मांग थी कि राज्य सरकार उनके जीवनयापन की व्यवस्था का निर्वहन करे क्यों कि मृतक ही एक मात्र सहारा था जो पूरे परिवार का पालन पोषण करता था। इराक में आईएस द्वारा मारे गये भारतीयों के शवों के अवशेष लेकर केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह सोमवार को राजधानी पटना पहुंचे थे।

मारे गये लोगों में छह लोग बिहार के रहने वाले थे। हवाई अड्डे पर सीएम नितीश कुमार ने पूरे सम्मान के साथ श्रद्धांजलि देते हुए मृत आत्माओं की शांति की प्रार्थना भी की। सीवान के रहने वाले दो परिवारों ने अपने रिश्तेदारों के शवों के अवशेषों को लेने से मना कर दिया। उनकी मांग थी कि जब तक सरकार उनके भरण पोषण और आर्थिक मदद का भरोसा नहीं देगी तब तक वो अवशेषों को नहीं लेंगे। वहीं विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह परिजनों की मांग पर भड़क गये और बोले कि मुआवजा बांटना क्या बिस्किट बांटने जैसा है कि जेब में हाथ डाला और सामने वाले को थमा दिया।

मृतक सुनील कुमार की पत्नी पूनम देवी का कहना है कि उनके पति की कमाई से ही पूरे परिवार का जीवनयापन होता था। उनके जाने के बाद सरकार हमारे बच्चे को सरकारी नौकरी दे। वहीं मृतक अदालत सिंह के बेटे श्याम का कहना है कि जब तक सरकार आर्थिक मदद का भरोसा नहीं देगी तब तक शव नहीं लेंगे। बिहार सरकार पहले ही मृतक परिजनों को एक एक लाख की मदद राशि दे चुकी है। पंजाब से 27 लोगोे को इराक में आईएस ने मार दिया था। उनके परिजनों के लिये प्रदेश सरकार ने पांच पांच लाख की आर्थिक मदद व परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

Upendra-Kushwaha-to-Meet-BJP-Chief-Amit-Shah-on-Monday-Over-Seat-Sharing-in-Bihar-NDA

उपेंद्र को मनाने की कोशिश में शाह, तेजस्वी से बढ़ी नजदीकियां

नयी दिल्ली। मिशन 2019 के लिये बीजेपी अपने पुराने साथियों को हर हाल साथ में …