Breaking News
Home / देश / महिलाओं की सुरक्षा हाशिए पर

महिलाओं की सुरक्षा हाशिए पर

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा को किस तरह हाशिए पर रखा गया है। इस बात का सबूत सामने आया है, राज्य अपराध ब्यूरो के आंकड़ों में। सामने आए इन आकड़ों से साफ ज़ाहिर होता है, कि किस तरह सूबे में महिलाओं की सुरक्षा से समझौता किया जा रहा है। चलिए बताते है आपको इन आकड़ो ने कैसें खोल दी अखिलेश सरकार की पोल। यूपी में बीते एक साल के दौरान दुष्कर्म के मामलों में तकरीबन 100 फीसद से अधिक की वृद्धि हुई है।

उत्तर प्रदेश राज्य अपराध ब्यूरों की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक साल 2014 में उप्र में दुष्कर्म की साढे तीन हज़ार से भी ज्यादा घटनाएं हुईं, जबकि 2015 में ये बढ़कर 9,075 हो गईं। इन आकड़ों से यह बात साफ होती है कि प्रदेश में किस तरह से महिलाएं असुरक्षित हैं। खुद अपराध ब्यूरों के एक अधिकारी इस बारे में बताते है कि आंकड़े इस बात की तरफ इशारा कर रहे हैं कि पिछले एक साल के दौरान दुष्कर्म के मामलों में 100 फीसदी से भी अधिक की बढोत्तरी हुई है। वहीं अब यह बात भी कही जा रही है, कि लोग पुलिस के पास अपनी शिकायतें लेकर पहुंच रहे हैं, इसलिए बीते सालों की तुलना में रेप के मामलों में इजाफा दर्ज किया गया है।

Check Also

पंजाब में कांग्रेस के अभी भी असली सरदार है मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब कांग्रेस का एक वर्ग कैप्टन अमरिंदर सिंह को चूका हुआ मान रहा है। इनकी …