Breaking News
Home / देश / बेमिसाल गोपाल दास नीरज तुम याद बहुत आओगे
gopal_das_neeraj_ji_1

बेमिसाल गोपाल दास नीरज तुम याद बहुत आओगे

नयी दिल्ली। गोपाल दास नीरज भारतीय साहित्यकारों में ऐसा नाम है जिसे सदियों भुला पाना आसान नहीं होगा। कवि और गजलकार श्री नीरज को मैं उस समय से सुनता आ रहा हूं जब मुझे गीत और गजल की समझ भी नहीं थी। उनकी वो चिरंजीवी गीत कारवां गुजर गया गुबार देखते रहे आज भी जेहन में है। नीरज जी लिखित फिल्म प्रेम पुजारी का वो सुपरहिट गीत शोखियों में घोला जाये फूलों का शवाब आज भी लोगों के बीच सुना जाता है।

1970 में बनी फिल्म जीवन-मृत्यु जिसमे उस समय के ही मैन धर्मेंद्र और अभिनेत्री राखी ने मुख्य भूमिका निभाई थी। इस फिल्म का कर्णप्रिय गीत झिलमिल सितारों का आंगन होगा, रिमझिम बरसता सावन होगा। इस गीत को सुनकर लोगबाग आज भी झूमकर सावन की याद करते हैं। ऐसे साहित्यकार, कवि और शायर की विदाई पर देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में अफसोस जताया जा रहा है। उनके जाने से देश के साहित्यजगत में ऐसी अपूरणीय क्षति हुई है जिसकी पूर्ति होना असंभव दिख रहा है। उन्हे फिल्म व साहित्यजगत की अनुपम व अद्वितीय सेवा करने के लिये देश सर्वोच्च पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

विनय गोयल की रिपोर्ट

Next9news

Check Also

accident_onedeath

एक तरफ झण्डा रोहण दूसरी ओर मौत का मातम

नयी दिल्ली।बुधवार की सुबह सारा देश स्वतंत्रता दिवस के समारोह की तैयारी में जुटा था। …