Breaking News
Home / विदेश / चीनी वैक्सीन किसी भी काम का नहीं, हो रही विकल्प की तलाश
Corona Vaccine

चीनी वैक्सीन किसी भी काम का नहीं, हो रही विकल्प की तलाश

अभिनव शाल्य

चीन में बने ज्यादातर उत्पाद खराब क्वालिटी के होते हैं वही उनके द्वारा बनाई गई कोरोना वैक्सीन की गुणवत्ता पर शुरू से ही सवाल उठते आए है. वही अपनी कोरोना की वैक्सीन के कम असर की बात अब चीन ने भी स्वीकार ली है.

हाल ही में चीनी मीडिया आउटलेट ‘द पेपर’ में Centre of Disease Control and Prevention के मुखिया गाओ फुट के हवाले से लिखा गया है कि मौजूदा चीनी वैक्सीन असरदार नहीं है प्रशासन को इस समस्या को सुलझाने के लिए कुछ सोचना पड़ेगा. वही हमको बता दे अंतरराष्ट्रीय जगत में यह पहला मौका है जब चीन के किसी बड़े अधिकारी ने आधिकारिक तौर पर वैक्सीन के कम असरदार होने की बात स्वीकारी है.

ये भी पढ़ें

महाराष्ट्र में लग सकता Lockdown, उद्धव ठाकरे आज ले सकते हैं बड़ा फैसला

उन्होंने इस समस्या से चीन को निजात दिलाने के लिए एक वैकल्पिक मार्ग भी सुझाया है. इसके लिए उन्होंने कहा कि अलग-अलग तकनीकों वाले टीके का इस्तेमाल करना भी एक विकल्प हो सकता है.
यदि संक्षेप में बात करें तो उनका कहने का मतलब था कि चीन को दुनिया के दूसरे देशों में बनी कोरोना के टीके का इस्तेमाल करना चाहिए ना कि अपने बेअसर कोरोना के टीके का.

आपको बता दें चीन दुनिया में टीकाकरण शुरू करने वाले सबसे पहले देशों में से एक है वहां पर अभी तक इस वैक्सीन के 14 करोड़ डोज का इस्तेमाल किया जा चुका है.वहीं ब्राजील में हुए एक परीक्षण में चीनी कंपनी के द्वारा बनाई गई कोरोना वैक्सीन सीनोबैक के टीके को केवल 50% ही असरदार बताया गया था.

Check Also

kim jong un

चीन से घटिया मेडिकल सामान खरीदने पर किंग जोंग उन ने दी बड़े अधिकारी को मौत

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन अपने तानाशाही रवैया और अपने सनकी व्यवहार के …