Breaking News
Home / देश / चिराग पासवान चला बड़ा दांव, अब सिखायेगे चाचा को सबक
download - 2021-06-14T074255.518

चिराग पासवान चला बड़ा दांव, अब सिखायेगे चाचा को सबक

लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान ने अभी हार नहीं मानी है और संघर्ष जारी रखने का फैसला किया है। चिराग के नेतृत्व वाले गुट ने संसद में संख्या की लड़ाई गंवाने के बाद अब सड़क पर उतरने और जनता के बीच जाने की सोची है। रविवार को उन्होंने अपने पिता और पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान की जयंती पर यानी 5 जुलाई से बिहार के हाजीपुर से आशीर्वाद यात्रा शुरू करने का ऐलान किया। एलजेपी कार्यकारिणी ने रामविलास पासवान के लिए भारत रत्न की मांग का एक प्रस्ताव भी पारित किया है।

लोजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में चिराग के नेतृत्व पर भरोसा जताया गया और पार्टी के संविधान के खिलाफ काम करने के लिए उनके चाचा पशुपति कुमार पारस के खेमे पर निशाना साधा गया। चिराग के मुताबिक राष्ट्रीय कार्यकारिणी के 90 प्रतिशत से ज्यादा सदस्य बैठक में मौजूद थे।

इस बैठक के बाद चिराग ने अपनी योजनाओं के बारे में पत्रकारों से बातचीत की। चिराग पासवान ने कहा कि हाजीपुर उनके पिता की कर्मभूमि थी। इसलिए आशीर्वाद यात्रा वहीं से शुरु होगी और पूरे राज्य से गुजरेगी। हाजीपुर से यात्रा शुरू करने की एक वजह ये भी है कि ये सीट सालों से रामविलास पासवान की रही है, और अब सदन में इस सीट का प्रतिनिधित्व पारस पासवान कर रहे हैं। यानी चाचा को उनके ही घर में चुनौती देनेवाले हैं चिराग पासवान।

Check Also

PMModi

पीएम मोदी ने बढ़ाया भारतीय हॉकी टीम का हौसला फोन पर की बात

सेमीफाइनल में महिला हॉकी टीम की हार से तमाम देशवासियों की उम्मीदों पर पानी फिर …