Breaking News
Home / विशेष / जानिए ट्रेन के पीछे X का साइन क्यों होता है? पढ़े रिपोर्ट
2. Aman - Truth behind X sign - pkg - main

जानिए ट्रेन के पीछे X का साइन क्यों होता है? पढ़े रिपोर्ट

भारत जैसे देश में अगर आप रहते हैं तो शायद ही कभी ऐसा होगा कि आपने कभी ट्रेन में सफर न किया हो पर क्या आप रेलवे स्टेशन और ट्रेन से जुड़ी छोटी छोटी बातों पर गौर करते हैं. अगर आप इन बातों पर गौर करते हैं तो हमारी ये वीडियो आपके लिए ही है. क्या आपने ट्रेन पर बने साइन पर कभी गौर किया है अगर आपने गौर किया हो तो इस साइन ने आपके दिमाग में एक बार जरूर नॉक किया होगा कि आखिर ये साइन ट्रेन में क्यों इस्तेमाल किया जाता है.

अगर आपने ट्रेन में सफर किया तो आपने ट्रेन के अंत में ये X का साइन जरूर देखा होगा और आपके मन में ये सवाल आया होगा आखिर क्यों ट्रेन पर ये X का साइन है. अगर आप किसी बात का कारण जानना पसंद करते हैं तो आपने ये जानने की कोशिश जरूर की होगी कि आखिर ये साइन क्यों होता है. कुछ लोग इस साइन का मतलब जाने बिना आगे भी बढ़ गए होंगे.

ये बात तो आप सभी जानते होंगे कि ट्रेन के सभी डब्बे एक दूसरे से जुड़े होते हैं. कभी कभी ये भी होता है कि ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के कारण ट्रेन के कुछ डब्बे पीछे भी छूट जाते हैं. क्या आप जानते हैं कि ट्रेन की हर स्टेशन पर जांच होती है कि ट्रेन सही सलामत स्टेशन पर पहुंची है या नहीं. इस बात का पता ट्रेन के पीछे बने X के साइन से ही चलता है जो कि पीले या सफेद रंग से ट्रेन के आखिर डब्बे पर बनाया जाता है. अगर यह साइन ट्रेन के डिब्बे पर नहीं होता तो उससे ये पर चलता है कि ट्रेन कहीं न कहीं दुर्घटनाग्रस्त हुई है जिस कारण से वो कोच ट्रेन में नहीं है.

अब आपके मन में एक सवाल उठ रहा होगा कि रात में तो ये साइन नहीं दिखता होगा तो कैसे पता चलता होगा तो रात में एक इलेक्ट्रिकल लैंप ट्रेन के लास्ट कोच में लगा होता है जो थोड़ी थोड़ी देर में ब्लिंक करता है जिससे यह पता चलता है कि ट्रेन सही सलामत स्टेशन पर पहुंची है. साथ ही ट्रेन के अंत में LV भी लिखा होता है जिसका मतलब होता है लास्ट व्हीकल अर्थात आखिरी डब्बा. इस X के साइन का मतलब इतना बड़ा होता है जो आपने कभी न कभी नजरअंदाज किया होगा

Check Also

manshi ghat

बनारस से जुडी कुछ अनसुनी बातें|Banaras|Varanasi

भारत देश अपनी धार्मिक विश्वास के लिए जाना जाता है। हमारे देश में कई ऐसे …