Breaking News
Home / विदेश / खाद्य संकट से जूझ रहा उत्तर कोरिया केला हुआ 3300 रू किलो
kim jong un

खाद्य संकट से जूझ रहा उत्तर कोरिया केला हुआ 3300 रू किलो

उत्तर कोरिया गंभीर खाद्य संकट से गुजर रहा है। एक किलो केले की कीमत 3336 रुपए है। इस तरह काली चाय के एक पैकेट की कीमत 5,167 रुपए और कॉफी 7,381 रुपए से अधिक हो गई है। देश में एक किलो मक्का 204.81 रुपए में बिक रहा है। इस तीव्र भोजन की कमी के पीछे प्रमुख कारण कोविड 19 महामारी, अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों और व्यापक बाढ़ के मद्देनजर सीमाओं को बंद करना है।

चीन के ऑफिशियल कस्टमस डाटा के अनुसार नॉर्थ कोरिया भोजन, उर्वरक और ईंधन के लिए चीन पर निर्भर है। लेकिन इसका आयात 2.5 बिलियन अमरीकी डॉलर से घटकर 500 मिलियन डॉलर हो गया है। वास्तव में स्थिति इतनी विकट है कि कोरियाई किसानों को कथित तौर पर उर्वरक उत्पदान में मदद करने के लिए प्रतिदिन दो लीटर यूरिन देने को कहा है। वहीं किम जोंग उन ने स्वीकार किया है कि देश में भोजन की स्थिति तनावपूर्ण है।

नार्थ कोरिया में 1990 के दशक में विनाशकारी अकाल आया था। जिसमें हजारों लोगों की मौत हो गई थी। पिछले साल कोरोनावायरस महामारी और गर्मियों के तूफानों और बाढ़ ने अर्थव्यवस्था पर और अधिक दबाव डाला। कोरिया की सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की केंद्रीय समिति की एक पूर्ण बैठक में किम ने कहा कि खाद्य स्थिति अब तनावपूर्ण हो रही है, क्योंकि कृषि क्षेत्र पिछले तूफान से हुए नुकसान के कारण अनाज उत्पादन योजना को पूरा करने में विफल रहा है।’

Check Also

nepal_airlines_airbus

कोरोना वायरस की वजह से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगी रोक 31 अगस्त तक बढ़ी

कोरोना महामारी की वजह से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगी रोक को 31 अगस्त तक के …