Breaking News
Home / विशेष / भोपाल जाने का मन बना रहे तो पढ़े यह आर्टिकल
3. Aman - Bhopal - pkg - main

भोपाल जाने का मन बना रहे तो पढ़े यह आर्टिकल

एमपी अजब है सबसे गज़ब है का मोटो एक बार फिर दोहराते हैं और पर्यटन के गलियारे से आपको इस बार एमपी की राजधानी भोपाल ले जाते हैं। नमस्कार अमन त्रिपाठी और आप देख रहे हैं हमारा चैनल नेक्स्ट 9 न्यूज। भोपाल शहर 1 नवम्बर 1956 को मध्य प्रदेश की राजधानी के तौर पर अस्तित्व में आया। देश के गौरवशाली और समृद्ध इतिहास को प्रदर्शित करता हुआ खुबसूरत शहर है भोपाल। यहाँ का इतिहास करीब 30 हजार साल पुराना है जो यहाँ के पर्यटन स्थलों पर उकेरे गए भीत्ति चित्रों से पता चलता है। यहाँ की सभी धरोहरों में आधुनिक और पौराणिक शैली का मिश्रण है। हरियाली, खूबसूरती और भव्य मस्जिदों के लिए जाना जाता यह शहर ग्रीनेस्ट शहर के नाम से भी जाना जाता है।

संस्कृति:- पौराणिक और आधुनिक स्थापत्य शैली का अनूठा उदाहरण पेश करता है भोपाल शहर। भीमबेटका की गुफाएं:- मध्यप्रदेश के रायसेन जिले में स्थित भीमबेटका की गुफाएं भोपाल से लगभग 50 मीटर की दूरी पर स्थित हैं जोकि महाभारत के अहम किरदार भीम से सम्बंधित है। यूनेस्को द्वारा इस स्थान को वैश्विक धरोहर बताया गया था। साँची:- यूनेस्को की दूसरी विश्व धरोहर में से एक है साँची। साँची भी एमपी के रायसेन जिले का एक छोटा सा गाँव है। यहाँ का साँची स्तूप प्रेम, विश्वास, शान्ति और साहस का प्रतीक है।

बड़ा तालाब:- अपर लेक के नाम से भी जाना जाता है बड़ा तालाब और इस तालाब को एशिया के सबसे कृत्रिम तालाब के रूप में भी जाना जाता है।

गौहर महल:- यह महल भोपाल रियासत का पहला महल है। इस महल में आपको दीवान-ए-आम और दीवान-ए-ख़ास भी देखने को मिलेगा।

रायसेन का किला और बिरला म्यूजियम:- रायसेन का किला यहाँ का मुख्य आकर्षण है। पहाड़ी की चोटी पर बसे इस किले का निर्माण बलुआ पत्थर से हुआ है। बिरला म्यूजियम पुराकाल से सम्बन्ध रखता है। यहाँ आपको 13वीं से 7वीं सदी के बीच की मूर्तियों के साथ ही पुराने सिक्के और पांडुलिपि मिल जाएगी।

अन्य आकर्षण केंद्र:- भोजपुर का शिव मंदिर, ताजुल मस्जिद, वन विहार नेशनल पार्क और ट्राइबल म्यूजियम यहाँ स्थित कुछ अन्य आकर्षण के केंद्र हैं।

कब पहुंचे:- नवम्बर से फरवरी तक का समय भोपाल घुमने का बेस्ट समय है। इस दौरान आप भोपाल की ट्रिप प्लान कर सकते हैं।

बाज़ार:- यहाँ पर आप चंदेरी और महेश्वरी साड़ियों की खरीदारी कर सकते हैं। न्यू बाज़ार, चौक बाज़ार और बिट्टन मार्किट यहाँ स्थित कुछ बाज़ार है।

कैसे पहुंचे:- रेल, सड़क और वायु मार्ग से आसानी से भोपाल पहुंचा जा सकता है। भोपाल का हवाई अड्डा देश के सभी बड़े महानगरों से कनेक्टेड है।

कहाँ ठहरे:- ठहरने के लिए भोपाल में बजट को लेकर सोचने की आवश्यकता नहीं है। रेलवे स्टेशन और बस अड्डे के पास आपको आपके बजट में होटल्स मिल जाएंगे।
होटल रॉयल पैलेस, खजुराहो होटल, श्री पैलेस होटल, होटल साईं प्लाजा और होटल पुखराज यहाँ स्थित कुछ बड़े होटल्स हैं।

हैंगआउट स्पॉट्स:- सैर-सपाटा भोपाल, भारत भवन, शौकत महल और टेकरी व्यू पॉइंट अच्छा वक़्त गुज़ारने के लिए कुछ चुनिन्दा हैंगआउट स्पॉट्स हैं।

Check Also

manshi ghat

बनारस से जुडी कुछ अनसुनी बातें|Banaras|Varanasi

भारत देश अपनी धार्मिक विश्वास के लिए जाना जाता है। हमारे देश में कई ऐसे …